Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सरकारी स्कूलों में अब हिमाचल की संस्कृति के बारे में पढ़ेंगे छात्र, नई शिक्षा नीति में हुआ बदलाव

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के सरकारी स्कूलों (Government school) में अब छात्र हिमाचल की संस्कृति (culture) के बारे में जानेंगे। गहनता से अपनी देवभूमि को छोटे बच्चे स्कूल में शिक्षक (Teacher) के माध्यम से समझेंगे।

इंग्लिश मीडियम का ऐसा क्रेज, 640 सीटों के लिए 6 हजार अर्जी, अब लॅाटरी से होगा फैसला
X
स्कूल (प्रतीकात्मक फोटो)

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के सरकारी स्कूलों (Government school) में अब छात्र हिमाचल की संस्कृति (culture) के बारे में जानेंगे। गहनता से अपनी देवभूमि को छोटे बच्चे स्कूल में शिक्षक (Teacher) के माध्यम से समझेंगे। राज्य सरकार नई शिक्षा नीति के तहत स्कूलों में हिमाचल की संस्कृति पर विषय शुरू करेगी। शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर ने इसकी पुष्टि की है। इसके साथ ही नई शिक्षा नीति को लेकर गठित की गई कमेटी को निर्देश दिए हैं कि वह यह तय करें कि किस कक्षा से यह सिलेबस छात्रों को पढ़ाया जाना है। हालांकि विभागीय सूत्रों की मानें तो पांचवीं कक्षा से आठवीं तक के छात्रों को यह नया सिलेबस पढ़ाया जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हिमाचल की संस्कृति विषय में छात्रों को हर साल अलग-अलग जिले की लोक संस्कृति, खानपान, ऐतिहासिक मंदिर व पर्यटन स्थलों के बारे में बताया जाएगा, वहीं हिमाचल के मशहूर कवि, लेखक, नेता व ब्रिटिश काल से अभी तक राज्य में हुए बदलाव के बारे में भी बताया जाएगा।

वहीं अहम यह है कि इस विषय के माध्यम से छात्रों का हिमाचल की राजनीति को लेकर भी बताया जाएगा। कुल मिलाकर स्कूलों में शुरू होने वाले इस विषय के माध्यम से छात्रों को हिमाचल से रू-ब-रू करवाया जाएगा। इसके अतिरिक्त राज्य की खास यादें, यहां देश विदेशों से आने वाली हस्तियों की जानकारी भी दी जाएगी।

अहम है कि हिमाचल की संस्कृति विषय को एचपी बोर्ड तैयार करेगा। न्यू एजुकेशन पॉलिसी के तहत सभी कक्षाओं के छात्रों को इसे अनिवार्य किया जाएगा, ताकि वे देवभूमि को सही तरीके से जान सकें। आगे चलकर अगर वे पर्यटन से जुड़े कारोबार में जाएं, तो हिमाचल के बारे में पूरी जानकारी हो।

Next Story