Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

उपचुनाव टालने पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बोले, केंद्र सरकार के दवाब में लिया निर्वाचन आयोग ने यह फैसला

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर (Kuldeep Singh Rathour) ने कहा कि यह फैसला केंद्र सरकार के दवाब में लिया गया है। क्योंकि भाजपा (BJP) यह जान गई है कि आज हिमाचल और देशभर में भापजा के खिलाफ लोगों के मन में जबरदस्त गुस्सा है।

उपचुनाव टालने पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बोले, केंद्र सरकार के दवाब में लिया निर्वाचन आयोन ने यह फैसला
X

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में लोकसभा और विधानसभा उपचुनाव (By election) को फिलहाल के लिए टाल दिया गया है। भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) ने जारी निर्देश में बताया है कि आगामी 30 सितंबर को पश्चिम बंगाल (West Bengal) की केवल एक सीट पर विधानसभा के उपचुनाव होंगे। वहीं, राज्य के मुख्य सचिव के दलील के बाद प्रदेश में होने वाले उपचुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग ने यह फैसला लिया।

आपको बता दें कि चुनाव आयोग के इस फैसले के बाद राजनीतिक पार्टियों की तरफ से प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गईं हैं। कांग्रेस (Congress) ने इसे फैसले के बाद कहा है कि निर्वाचन आयोन ने यह दवाब में लिया है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर (Kuldeep Singh Rathour) ने कहा कि यह फैसला केंद्र सरकार के दवाब में लिया गया है। क्योंकि भाजपा (BJP) यह जान गई है कि आज हिमाचल और देशभर में भापजा के खिलाफ लोगों के मन में जबरदस्त गुस्सा है। प्रदेश के लोगों की नाराजगी को देखते हुए भाजपा पिछले दरवाजे से भाग गई।

वहीं कुलदीप राठौर ने कहा कि हिमाचल में किसानों और बागवानों (Farmers and Gardeners) का सरकार के प्रति नाराजगी जाहिर है। बागवानों के जबरदस्त गुस्से (Anger) की वजह से उपचुनाव को टाला गया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि आज जिन परिस्थितियों से देश गुजर रहा है। वह सब भापजा की नीतियों और निर्णयों का परिणाम है। उन्होंने कहा कि सरकार में लोगों का सामना करने की शक्ति नहीं रही है। कुलदीप राठौर ने कहा कि अब आने वाले चुनावों में हिमाचल की सत्ता से भाजपा की विदाई तय है। हिमाचल प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस पूर्ण बहुमत के बल पर अपनी सरकार बनाएगी।

Next Story