Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसान आंदोलन में पहुंचा बेटा तो रिटायर्ड फौजी ने किया संपत्ति से बेदखल

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के हमीपुर जिले (Hamirpur District) में एक रिटायर्ड फौजी (Retired army) ने अपने बेटे को अपनी संपत्ति से इस लिए बेदखल कर दिया कि वह चार-पांच दिनों से दिल्ली (Delhi) में जाकर किसान आंदोलन (Farmers Protest) में शामिल हो गया है।

किसान आंदोलन में पहुंचा बेटा तो रिटायर्ड फौजी ने किया संपत्ति से बेदखल
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के हमीपुर जिले (Hamirpur District) में एक रिटायर्ड फौजी (Retired army) ने अपने बेटे को अपनी संपत्ति से इस लिए बेदखल कर दिया कि वह चार-पांच दिनों से दिल्ली (Delhi) में जाकर किसान आंदोलन (Farmers Protest) में शामिल हो गया है। रिटायर्ड फौजी ने बताया कि उसके बेटे को परमजीत (Paramjeet) को फसलों का भी ज्ञान नहीं हैं कि कौन सी फसल कब बोई जाती है। रिटायर्ड फौजी ने दिल्ली पुलिस से गुहार लगाई की उसके बेटे पुलिस इतना मारे की उसकी हड्डियां टूट जाएं।

आपको बता दें की अजमेर सिंह (Ajmer Singh) 2005 में सेना से रिटायर्ड हुए हैं। अब वे अपने गांव में अपनी खेती बाड़ी संभाल रहे हैं। इतना ही नहीं वे अपनी एक दुकान भी चलाते हैं। आपको बता दें कि परमजीत उनका इकलौता बेटा है। जिसकी शादी हो चुकी है। घर पर पोती और बहु हैं। पिता का कहना की वह चार-पांच दिन पहले ही दिल्ली गया है। इससे पहले भी वह मुफ्त का खाना खाकर घर पर पड़ा रहता था। वहीं उन्होंने कहा कि परमजीत दिल्ली पहुंचकर किसान अंदोलन में मुफ्त की रोटी तोड़ रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनके बेटे ने एक मीडिया चैनल में इंटरव्यू दिया जिसके बाद पिता अजमेर सिंह को उसके बारे में पता लगा। यह देखने के बाद अजमेर सिंह भड़क गए जिसक बाद उन्होंने बेटे को अपनी चल अचल संपत्ति से बेदखल कर दिया। वहीं उन्होंने कहा कि दिल्ली में जो किसान आंदोलन चल रहा हैं वह गलत है। वहां पर लोग मुफ्त में खाना खा रहे हैं तथा अन्य सुविधाएं भी फ्री में ले रहे हैं। वहीं बेटे की चल-अचल संपत्ति से बेदखल करने की चर्चा पूरे क्षेत्र में फैल गई है जिससे लोग हैरान हैं।

Next Story