Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज बोले- सात दिनों के अंदर मिलेंगे लोगों को दूध के पैसे

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ( Urban Development Minister Suresh Bhardwaj) लोगों की समस्याएं सुन रहे थे। इस दौरान ग्राम पंचायत पौधना के उपप्रधान संजीव ठाकुर ने दूध का मामला उठाया हुए कहा कि किसान पिछले 5-6 महीनों से अपना दूध (Milk) डेयरी पर बेच रहे है लेकिन सोसाइटी की ओर से न तो दूध पूरा लिया जा रहा है और न ही उन्हें पैसे दिए जा रहे है।

शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज बोले- सात दिनों के अंदर मिलेंगे लोगों को दूध के पैसे
X

शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज 

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ( Urban Development Minister Suresh Bhardwaj) लोगों की समस्याएं सुन रहे थे। इस दौरान ग्राम पंचायत पौधना के उपप्रधान संजीव ठाकुर ने दूध का मामला उठाया हुए कहा कि किसान पिछले 5-6 महीनों से अपना दूध (Milk) डेयरी पर बेच रहे है लेकिन सोसाइटी की ओर से न तो दूध पूरा लिया जा रहा है और न ही उन्हें पैसे दिए जा रहे है। जिससे ग्रामीणों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उनका कहना था कि ग्रामीण दूध बेचकर और खेतीबाड़ी करके अपना गुजारा करते है लेकिन 6 महीनों से पैसे न मिलने से ग्रामीणों (villagers) को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने तुरंत एक्शन लेते हुए अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि 1 हफ्ते के अंदर अंदर ग्रामीणों की समस्याएं निपटाई जाए ताकि ग्रामीणों को पैसा पूरा मिल सके। कुछ समय पहले सोलन में भी ग्रामीणों ने दूध के पैसे न मिलने को लेकर सोसायटी को लेकर प्रश्न उठाये थे, जिसके बारे में डीसी को भी अवगत करवाया गया था,वहीं अब जनमंच में मुद्दा उठने पर और मंत्री द्वारा अधिकारियों को इस मामले को निपटाने के लिए दिए गए निर्देश से ग्रामीणों को दूध के पैसे मिलने की आस जग चुकी है।

आपको बता दें कि यहां पर कृषि के साथ पशुधन बहुत सारे लोगों की आजीविका का साधन रहा है। लोग दूध बेचकर अपना व परिवार गुजारा करते हैं। आज हिमाचल सरकार की ओर से आयोजित सोलन के कंडाघाट में जनमंच ( Janmanch) के दौरान दूध के दाम ( Milk prices) ने मिलने का मुद्दा उठा। ग्रामीणों ने जब मंत्री महोदय को अपनी दिक्कतें बताई तो उन्होंने भी तुरंत एक्शन लेते हुए एक सप्ताह के अंदर दूध के पैसे अदा करने और उचित कार्रवाई करने की बात कही है। अब ग्रामीणों को जल्द पैसे मिलने की उम्मीद है।

Next Story