Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल में आंधी के साथ आई बारिश ने किसानों पर बरपाया कहर, मक्की की फसल तबाह

हिमाचल प्रदेश में बारिश के साथ आंधी से किसानों को अच्छा खासा नुकसान हुआ हैं। किसानों की मक्की की फसल जमीन पर लेट गई है। जिससे किसानों को काफी अधिक नुकसान होने की आशंका है।

हिमाचल में आंधी के साथ आई बारिश ने किसानों पर बरपाया कहर, मककी की फसल तबाह
X
हिमाचल में बारिश से खराब हुई मक्की की फसल का दृश्य।

हिमाचल प्रदेश में बारिश के साथ आंधी से किसानों को अच्छा खासा नुकसान हुआ हैं। किसानों की मक्की की फसल जमीन पर लेट गई है। जिससे किसानों को काफी अधिक नुकसान होने की आशंका है। कोराेना संकट में बादल किसानों की फसल पर आफत बनकर बरसे हैँ।

प्रदेश में मौसम अब बीते कुछ दिन से बादल जमकर बरस रहे हैं। राजधानी शिमला के समीप जुब्बहट्टी क्षेत्र में बुधवार शाम को हुई भारी बारिश और तूफान ने किसानों की मेहनत पर पानी फेर दिया। इस क्षेत्र में मक्की की फसल तबाह हो गई। भारी बारिश के साथ तेज गति से चली हवा ने खेतों में खड़ी फसल तहस कर दी। साथ ही टमाटर की फसल को भी खासा नुकसान हुआ है। किसानों ने अब सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

जुब्बड़हट्टी क्षेत्र के स्थानीय लोगों ने बताया कि एक दर्जन से ज्यादा गांवों के सैकड़ों किसानों को नुकसान हुआ है। सुजाना, धारठ,चनोग,पबावो और बरोग गांव में ज्यादा नुकसान हुआ है। सुजाना गांव के किसान ज्ञान चंद ने बताया कि उसके चार खेत हैं, चारों खेतों में मक्की और टमाटर की फसल लगाई थी, तूफान ने सब कुछ खत्म कर दिया।

उन्होंने कहा कि काफी मंहगा बीज खरीदा था, मंहगी खाद खरीदी थी और गोबर भी डाला था। तूफान ने सबकुछ तहस नहस कर दिया, खाने तक के लिए न मक्की बची और न ही टमाटर. खूब मेहनत की थी, अब उस मेहनत पर पानी फिर गया है। किसानों ने सरकार से गुहार लगाई है कि नुकसान का आंकलन कर उचित मदद दी जाए ताकि कुछ भरपाई हो सके।

Next Story