Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बजट पेश: शराब महंगी होने से शराब शौकिनों को लगा तगड़ा झटका

हिमाचल प्रदेश में की राजधानी शिमला (Shimla) में नगर निगम ने आज अपना 2021-22 का वार्षिक बजट (Budget) पेश किया। निगम ने 222.41 करोड़ रुपए का अनुमानित बजट पेश किया है, जो कुल आय से 24.46 लाख रुपए ज्यादा है।

बजट पेश: शराब महंगी होने से शराब शौकिनों को लगा तगड़ा झटका
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश में की राजधानी शिमला (Shimla) में नगर निगम ने आज अपना 2021-22 का वार्षिक बजट (Budget) पेश किया। निगम ने 222.41 करोड़ रुपए का अनुमानित बजट पेश किया है, जो कुल आय से 24.46 लाख रुपए ज्यादा है। नगर निगम (Municipal council) ने शहरवासियों पर अतिरिक्त बोझ बढ़ा दिया है। बजट में बिजली और शराब (Electricity-Alcohol) पर अतिरिक्त सेस बढ़ाया गया है। अतिरिक्त सेस बढ़ाने से शराब और बिजली की किमत आसमान छुने लगेगी।

आपको बता दें कि शराब पर सेस दो रुपए से बढ़ाकर पांच रुपए प्रति बोतल कर दिया गया है, जबकि बिजली की यूनिट पर निगम ने सेस 10 पैसे से 20 पैसे प्रति यूनिट बढ़ा दिया है, वहीं पिछले बजट की ही कई घोषणाएं इस बजट में दोहराई गई है। इसके साथ ही बीपीएल परिवारों को राहत देते हुए इस बजट में उनका कूड़ा शुल्क माफ किया गया है।

क्या कहती हैं मेयर

वहीं शिमला में एंट्री पर ग्रीन टैक्स की योजना को भी फिर से बजट में शामिल किया गया है। इसके अलावा स्मार्ट सिटी और अम्रुत कार्यों को धरातल पर लाने के लिए कार्य किया जाएगा। एक छत के नीचे सभी सुविधाएं मिलेंगी और स्मार्ट सिटी के तहत नगर निगम का भवन बनेगा।

विपक्ष ने किया विरोध

विपक्षी पार्षदों ने भाजपा शासित नगर निगम के बजट का विरोध किया है और जनता के साथ छलावा बजट करार दिया है। माकपा पार्षद शैली शर्मा का कहना है कि निगम ने अपने बजट में सभी पुरानी योजनाओं को शामिल किया है न तो कोई नई योजना शामिल की है और न ही किसी तरह की राहत प्रदान की है। उल्टा जनता पर बिजली सेस में 20 पैसे प्रति यूनिट और शराब की बोतल पर 2 रुपए से 5 रुपए सेस बढ़ाने का निर्णय लिया है। कांग्रेस पार्षद सिम्मी नन्दा और दिवाकर ने भी एमसी के बजट को जनता पर बोझ डालने वाला बताया है, जिसका वह विरोध करते हैं।

Next Story