Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बेअसर कोरोना वैक्सीन: दो बार लगवाया टीका फिर भी डॉक्टर निकला संक्रमित

हिमाचल की राजधानी शिमला (Shimla) में दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल (Deendayal Upadhyay Hospital) के डॉक्टर कोरोना संक्रमित (Corona Positive) पाए गए हैं। बताया जा रहा है कि उन्होंने कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की दोनों डोज ले रखी थीं। वहीं उनकी पत्नी भी कोरोना संक्रमित पाई गई हैं।

Delhi Corona Vaccination Drive: दिल्ली में कोरोना टीकाकरण अभियान जारी, पिछले 24 घंटे में इतने लोगों ने ली पहली खुराक
X

दिल्ली में कोरोना टीकाकरण अभियान जारी

हिमाचल की राजधानी शिमला (Shimla) में दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल (Deendayal Upadhyay Hospital) के डॉक्टर कोरोना संक्रमित (Corona Positive) पाए गए हैं। बताया जा रहा है कि उन्होंने कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की दोनों डोज ले रखी थीं। वहीं उनकी पत्नी भी कोरोना संक्रमित पाई गई हैं। डॉक्टर के कोरोना संक्रमित आने के बाद अस्पताल स्टाफ (Hospital Staff) में हड़कंप मच गया है। वहीं आपको बता दें कि प्रदेश में कोरोना के मामले भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं।

बताया जा रहा है कि डॉक्टर कुछ दिन पहले अस्पताल कर्मियों से मिले थे। डॉक्टर की पत्नी और बेटी को बुखार की शिकायत के चलते सोमवार को अस्पताल लाया गया था। उनकी कोरोना जांच करवाई तो डॉक्टर और पत्नी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उनकी बेटी का आरटीपीसीआर टेस्ट (RTPCR Test) करवाया गया। एहतियात के तौर पर माता-पिता का भी आरटीपीसीआर सैंपल लिया गया है। इन सभी रिपोर्ट अभी आना बाकी है।

30 जनवरी को ली थी पहली डोज

शिमला के डीडीयू अस्पताल के डॉक्टर को 30 जनवरी को पहली डोज लगाई गई थी। इसके बाद 1 मार्च को दूसरी डोज लगाई गई। चौदह दिन बाद डॉक्टर की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बता दें कि बीते सप्ताह सोलन जिले में भी एक महिला डॉक्टर कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद पॉजिटिव मिली थी।

ये है प्रदेश में कोरोना की स्थिति

प्रदेश में सोमवार को कोरोना की जांच के लिए 5296 लोगों के सैंपल लिए गए थे, इनमें से 5031 की रिपोर्ट निगेटिव और 205 सैंपलों की रिपोर्ट बाकी है। प्रदेश के संक्रमितों का आंकड़ा 59750 पहुंच गया है। सक्रिय मामले अब 757 हैं। अब तक 57982 संक्रमित ठीक हो चुके हैं और 997 लोगों की मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग लोगों से बार-बार जागरूक कर रहा है ताकि इस बिमारी को रोका जा सके।

Next Story