Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लियो पारगिल फतेह करने वाले जवानों से मिले सीएम जयराम ठाकुर

कोरोना संकट के बीच आईटीबीपी के जवानों ने तमाम बाधाओं को पार करते हुए 22 हजार 222 फीट उंचाई पर स्थित किन्नौर जिले की दुर्गम चोटी 'लियो पारगिल' को फतेह किया। कोरोना संकट के दौर में ये उत्तर भारत का पहला पर्वतारोहण अभियान था।

लियो पारगिल फतेह करने वाले जवानों से मिले सीएम जयराम ठाकुर
X
लियो पारगिल फतेह करने वाले जवानों से मिले सीएम जयराम ठाकुर

कोरोना संकट के बीच आईटीबीपी के जवानों ने तमाम बाधाओं को पार करते हुए 22 हजार 222 फीट उंचाई पर स्थित किन्नौर जिले की दुर्गम चोटी 'लियो पारगिल' को फतेह किया। कोरोना संकट के दौर में ये उत्तर भारत का पहला पर्वतारोहण अभियान था।

20 अगस्त से शुरू हुआ लियो पारगिल अभियान 5 सितंबर तक चला। इस अभियान को लेकर मंगलवार को आईटीबीपी के क्षेत्रीय कार्यालय शिमला में फ्लैग-इन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सीएम जयराम ठाकुर ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की।

इस मौके पर आईटीबीपी के डीआईजी प्रेम सिंह ने बताया कि किन्नौर जिले की जंसकर रेंज में स्थित इस दुर्गम चोटी को फतेह करने के लिए 28 सदस्यों का आरोहण दल 20 अगस्त को रिकांगपिओ स्थित 17वीं वाहिनी से रवाना हुआ था।

दल ने अति दुर्गम रास्तों,कठिन चुनौतियों और मुश्किलों को पार करते हुए 31 अगस्त और एक सितंबर के दरमियान लियो पारगिल चोटी को फतेह कर तिरंगा फहराया। पर्वतारोही टीम का नेतृत्व डिप्टी कमांडेन्ट कुलदीप सिंह ने किया। दल के कुल 12 सदस्यों ने 'लियो पारगिल' चोटी का सफलतापूर्वक आरोहण किया।

क्या बोले सीएम

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अभियान दल के सदस्यों से मुलाकात कर सफलता के लिए बधाई दी और जवानों का होंसला बढ़ाया। सीएम ने कहा कि इस तरह के अभियान, बल के कर्मियों को नेतृत्व, आत्मीयता, अनुशासन और उनमें आत्मविश्वास की भावना विकसित करने के अलावा जवाबदेही और पहल के साथ साथ अनिश्चित और गंभीर परिस्थितियों का सामना करने के लिए प्रशिक्षित करते हैं।


Next Story