Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कांगड़ा में प्राइवेट हॉस्पिटलों को कोविड रोगियों के लिए देने होंगे 50 फीसदी बेड, यहां पढ़ें अस्पतालों की लिस्ट

हिमचाल प्रदेश में कोरोना (Covid) के बढ़ते मामलों को देखते हुए उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति (Deputy Commissioner Rakesh Kumar Prajapati) द्वारा कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए तथा जिले में रोगियों के अस्पताल (Hospital) में भर्ती होने की क्षमता का विस्तार करने की सख्त जरूरत को देखते हुए 50 बेड से ऊपर की क्षमता वाले प्राइवेट अस्पतालों के 50 प्रतिशत बेड को कोविड-19 (Covid-19) के रोगियों के लिए आरक्षित करने का निर्णय लिया गया है।

कांगड़ा में प्राइवेट हॉस्पिटलों को कोविड रोगियों के लिए देने होंगे 50 फीसदी बेड, यहां पढ़ें अस्पतालों की लिस्ट
X

हिमचाल प्रदेश में कोरोना (Covid) के बढ़ते मामलों को देखते हुए उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति (Deputy Commissioner Rakesh Kumar Prajapati) द्वारा कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए तथा जिले में रोगियों के अस्पताल (Hospital) में भर्ती होने की क्षमता का विस्तार करने की सख्त जरूरत को देखते हुए 50 बेड से ऊपर की क्षमता वाले प्राइवेट अस्पतालों के 50 प्रतिशत बेड को कोविड-19 (Covid-19) के रोगियों के लिए आरक्षित करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि सूर्या अस्पताल राजा का तालाब, श्री बालाजी अस्पताल कांगड़ा, हिमाचल हेल्थ केयर/ फोर्टिस अस्पताल कांगड़ा, मेपल लीफ कांगड़ा, सिटी अस्पताल घुरकडी कांगड़ा, विवेकानंद मेडिकल इंस्टीच्यूट पालमपुर, नव जीवन अस्पताल ज्वालामुखी तथा डेलेक अस्पताल धर्मशाला में यह सुविधा उपलब्ध रहेगी।

उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 34 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग कर जनता के कल्याण में यह आदेश जारी किए गए हैं। जिला निगरानी अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला कांगड़ा द्वारा रेफरल के बाद आरक्षित 50 प्रतिशत बेड पर कोविड रोगियों की भर्ती की जाएगी। वहीं आईसीएमआर से अनुमोदित प्रयोगशाला में पुष्टि की गई पॉजिटिव रिपोर्ट पर कोविड पॉजिटिव रोगियों को सीधे भी स्वीकार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी जिला कांगड़ा में प्रत्येक माध्यमिक स्तर के समर्पित आईसोलेशन सुविधा के लिए एक नोडल अधिकारी को नामित/तैनात किया जाएगा।

8 हजार रुपये में एक दिन के लिए मिलेगा बिस्तर

उपायुक्त ने कहा कि वेंटिलेटर के साथ-साथ ऑक्सीजन की आवश्यकता वाले रोगियों के लिए 8 हजार रुपए प्रति बिस्तर प्रति दिन की दर निर्धारित की गई है, जबकि ऑक्सीजन की आवश्यकता वाले रोगियों के लिए यह दर तीन हजार रुपए प्रति बिस्तर प्रतिदिन रहेगी।

वेंटिलेटर और ऑक्सीजन के बगैर 800 में मिलेगा बिस्तर

उन्होंने बताया कि जिन मरीजों को न तो वेंटिलेटर और न ही ऑक्सीजन की आवश्यकता है, उनके लिए 800 रुपए प्रति बिस्तर प्रतिदिन की दर निर्धारित की गई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी शुरू में इन अस्पतालों को 50 पीपीई किट और 100 एन-95 मास्क प्रदान करेंगे और इसके बाद वास्तविक आवश्यकता के आधार पर सामान की आपूर्ति की जाएगी।

Next Story