Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चलती बस में ड्राइवर को आया हार्ट अटैक, मरने से पहले इस तरह बचाई 24 यात्रियों की जान

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के सिरमौर जिले में एक प्राइवेट बस चालक (Private Bus Driver) को उस समय दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ गया। जिस समय वह बस चला रहा था। चालक (Driver) के सीने में जब तेज दर्द हुआ तो उसके गाड़ी का स्टीयरिंग झाड़ियों की तरफ मोड़ दिया।

चलती बस में ड्राइवर को आया हार्ट अटैक, मरने से पहले इस तरह बचाई 24 यात्रियों की जान
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के सिरमौर जिले में एक प्राइवेट बस चालक (Private Bus Driver) को उस समय दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ गया जिस समय वह बस चला रहा था। चालक (Driver) के सीने में जब तेज दर्द हुआ तो उसके गाड़ी का स्टीयरिंग झाड़ियों की तरफ मोड़ दिया। ड्राइवर की सूझबूझ से यात्रियों की जान बच गई। बता जा रहा है कि उस दौरान बस में करीब 24 यात्री सवार थे।

चालक की सूझबूझ से यात्री तो सहकुशल बच गए लेकिन ड्राइवर की जान नहीं बचाई जा सकी। यात्रियों ने बस चालक को पांवटा अस्पताल (Hospital) पहुंचाया। अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टर ने चालक को मृत घोषित कर दिया। परिवार को चालक की मौत का पता चलने के बाद घर में मातम पसर गया।

आपको बता दें कि 10 फरवरी को सरकाघाट डिपो के एक चालक की भी दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी। बता दें कि एचआरटीसी (HRTC) की बस को चला रहे ड्राइवर (Driver) को अचानक हार्ट अटैक आ गया था। ड्राइवर ने हार्ट अटैक (Cardiac Arrest) आने के बाद भी अपना संतुलन नहीं खोया और बस को सड़क के किनारे साइड लगाकर सवारियों को उतार दिया था। उस समय बस के अंदर 35 सवारियां मौजूद थीं। चालक ने अपनी सुझबूझ से सभी 35 सवारियों को सुरक्षित बचा लिया।

लेकिन अस्पताल में एचआरटीसी बस ड्राइवर (Driver) ने दम तोड़ दिया था। बता दें कि सरकाघाट डिपो में बतौर चालक कार्यरत श्याम लाल रोजाना की तरह सुबह भी अपनी ड्यूटी पर पहुंचे और सरकाघाट से अवाहदेवी रूट पर जाने वाली बस को उसके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए बस को चलाने लगे। सधोट गांव के पास पहुंचते ही श्याम लाल के सीने में तेज दर्द हुआ और बस उसके नियंत्रण से बाहर होने लगी। कुछ समय के लिए बस हिचकोले खाने लगी और बस में सवार यात्रियों की सांसें अटक गईं थी लेकिन ऐसी स्थिति में भी श्याम लाल ने हिम्मत नहीं हारी और बस को नियंत्रित करके सभी सवारियों को उतरने को कहा था जिसके बाद उनकी भी मौत हो गई थी।

Next Story