Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिलिंग से उड़ान भरने के बाद पैराग्लाइडिंग पायलट लापता, तलाश में जुटे स्थानीय पायलट

हिमाचल प्रदेश में पैराग्लाइडिंग के लिए मसहुर बिलिंग घाटी में शुक्रवार को एक पैराग्लाइडिंग पायलट के लापता होने का मामला प्रकाश में आया है। उड़ान भरने के बाद पायलट का अब तक को सुराग नहीं है।

बिलिंग से उड़ान भरने के बाद पैराग्लाइडिंग पायलट लापता, तलाश में जुटे स्थानीय पायलट
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश में पैराग्लाइडिंग के लिए मसहुर बिलिंग घाटी में शुक्रवार को एक पैराग्लाइडिंग पायलट के लापता होने का मामला प्रकाश में आया है। उड़ान भरने के बाद पायलट का अब तक को सुराग नहीं है। बता दें कि पायलट ने शुक्रवार को बिलिंग के आकाश से उड़ान भरी थी, मगर उसके बाद पायलट लैंडिंग साइट पर नहीं पहुंचा। बताया जा रहा है कि पायलट कई सालों से बीड़ में ही रहता था। जानकारों की मानें तो पायलट दिल्ली का बताया जा रहा है।

जानकार के अनुसार उसके साथ उड़ान भरने वाले अन्य पायलट ने बताया कि पायलट को आखिरी बार उत्तराला के आसपास की पहाड़ियों पर देखा गया था। पायलट के गुम होने की सूचना मिलते ही स्थानीय पायलटों का एक खोजी दस्ता पायलट की तलाश में निकल गया है। शनिवार सुबह हेलीकॉप्टर की मदद से भी पायलट ढूंढने के प्रयास किए जा रहे हैं और मनाली से आया हुआ हेलीकॉप्टर पायलट को ढूंढ रहा है। बताया जा रहा कि पायलट के पास रेडियो भी नहीं था जिस कारण से पायलट को ढूंढने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

2015 में यहां पैराग्लाइडिंग विश्व कप का हुआ था आयोजन

गौरतलब है कि बीर-बिलिंग को दुनिया की दूसरी सबसे बहतरीन पैराग्लाइडिंग साइट माना गया है। यहां बड़ी संख्या में सैलानी पैराग्लाइडिंग करने आते हैं। साल 2015 में यहां पैराग्लाइडिंग विश्व कप का आयोजन भी हो चुका है। हालांकि, यहां पर लगातार हादसे भी होते रहते हैं। अभी कुछ दिनों पहले एक विदेशी पायलट की बिलिंग में मौत हो गई थी।

Next Story