Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जन्म के बाद नवजात को फेंककर फरार हुई मां, जानें क्या है पूरा मामला

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की राजधानी शिमला (Shimla) में एक नवजात बच्चा (Newborn Baby) लावारिश हालत में मिला है। पुलिस जांच (police check) में पता चला है कि वह बच्चा बिन ब्याही मां का है।

जन्म के बाद नवजात को फेंककर फरार हुई मां, जानें क्या है पूरा मामला
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की राजधानी शिमला (Shimla) में एक नवजात बच्चा (Newborn Baby) लावारिश हालत में मिला है। पुलिस जांच (police check) में पता चला है कि वह बच्चा बिन ब्याही मां का है। लोकलाज के डर से बिन ब्याही मां ने नवजात शिशु को जन्म के कुछ घण्टे बाद लावारिश हालत में छोड़ दिया। मुख्यमंत्री आवास की सुरक्षा में तैनात एक कर्मी ने शिशु के रोने की आवाज सुनकर पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने तुरंत घटनास्थल पर पहुंचकर शिशु को कब्जे में लेकर अस्पताल पहुंचाया। डॉक्टरों ने नवजात को पूरी तरह स्वस्थ बताया है। पुलिस ने बिन ब्याही मां को पांच घण्टे के भीतर खोज निकाला। और उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके विरुद्ध आईपीसी की धारा 317 के तहत केस दर्ज किया है।

पुलिस के मुताबिक बिन ब्याही मां ने तड़के अपने नवजात शिशु को मातृ-शिशु अस्पताल के पास लावारिश हालत में छोड़ दिया और फरार हो गई। यह इलाका मुख्यमंत्री के सरकारी आवास ओकओवर से सटा है। सीएम आवास की सिक्युरिटी में तैनात एक कर्मी सुबह सात बजे जब वहां से गुजर रहा था, तो उसे शिशु के रोने की आवाज सुनाई दी। नवजात शिशु को लावारिश हालत में पड़ा देखकर उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी।

छोटा शिमला थाने की एएसआई रंजना शर्मा के नेतृत्व में मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने आवश्यक जांच-पड़ताल कर शिशु को अपने कब्जे में लेकर आईजीएमसी अस्पताल ले जाकर प्राथमिक उपचार कराया। चिकित्सकों ने नवजात को पूरी तरह से स्वस्थ बताया। चिकित्सकों ने पुलिस को बताया कि नवजात शिशु का कुछ घण्टे पहले जन्म हुआ है। अगर पुलिस समय पर शिशु को अस्पताल नहीं पहुंचाती तो उसका बचना मुश्किल था।

एएसआई रंजना शर्मा, हेडकांस्टेबल अमित और उनकी की टीम ने शिशु को लावारिश हालत में छोड़ने वाली मां की तलाश शुरू कर दी। घटनास्थल पर बिखरे खून के धब्बों के जरिये पुलिस आरोपित के घर तक पहुंच गई। अपने सामने पुलिस को खड़ा देख आरोपी महिला के होश उड़ गए।

पुलिस ने युवती को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक युवती की अभी शादी नहीं हुई है। वह शिमला में प्राइवेट नौकरी करती है। एक युवक के संपर्क में आने के बाद वह गर्भवती हो गई। प्रसव के बाद लोकलाज के डर से नवजात शिशु को लावारिश छोड़ दिया। बहरहाल शिमला पुलिस इस शिशु के लिए भगवान बन कर सामने आई है।

Next Story