Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब मनाली-लेह हाईवे पर ओवरस्पीड वाहन चालकों की खैर नहीं, ITMS कैमरों से रखी जाएगी निगरानी

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मनाली-लेह सामरिक मार्ग पर ओवरस्पीड वाहन (overspeed vehicle) चलाने वालों की अब खैर नहीं है।

अब मनाली-लेह हाईवे पर ओवरस्पीड वाहन चालकों की खैर नहीं, ITMS कैमरों से रखी जाएगी निगरानी
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मनाली-लेह सामरिक मार्ग पर ओवरस्पीड वाहन (overspeed vehicle) चलाने वालों की अब खैर नहीं है। जनजातीय क्षेत्र लाहौल-स्पीति (Lahaul-Spiti) में ट्रैफिक नियंत्रण (traffic control) और चोरी की वारदातें रोकने के लिए हाई रेजुलेशन के दो हाइटेक इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम कैमरे लगाए जा रहे हैं। अटल टनल रोहतांग खुलने के बाद मनाली-केलांग-लेह मार्ग पर ट्रैफिक कई गुना बढ़ गया है। ऐसे में मार्ग पर वाहन दुर्घटना का अंदेशा भी बढ़ गया है। अटल टनल खुलने के बाद पुलिस को घाटी में चोरी की वारदातों की शिकायतें भी मिलने लगी हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हिमाचल में कांगड़ा, मंडी और कुल्लू जिलों के बाद अब लाहौल-स्पीति में इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम कैमरे स्थापित किए जा रहे हैं। करीब 28 लाख से केलांग में दुर्गा माता मंदिर और सिस्सू में दो आईटीएमएस कैमरे लगाए जाएंगे। केलांग में कैमरे लगाने का काम प्रगति पर है। सिस्सू में भी जल्द कैमरा लगाया जाएगा। कैमरों की खासियत यह है कि वाहन जिस तेज गति से दौड़ेगा, उसका नंबर आसानी से कैमरे में कैद हो जाएगा।

वहीं पुलिस अधीक्षक लाहौल-स्पीति मानव वर्मा ने बताया कि आईटीएमएस की मदद से ट्रैफिक मैनेजमेंट के साथ चोरी की घटनाएं रोकने में मदद मिलेगी। सैटेलाइट की मदद से कैमरों को जिला पुलिस मुख्यालय से लिंक किया जाएगा। कैमरों में नाइट विजन की सुविधा भी होगी। बताया कि अटल टनल खुलने के बाद मनाली-लेह मार्ग पर वाहनों की संख्या औसतन ढाई गुना बढ़ गई है। अब तेज गति में वाहन चलाने वालों पर निगरानी रखी जाएगी।

Next Story