Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आटे में रेत मिलाता था मिल मालिक, फूड इंस्पेक्टर ने चपाती बनवाकर खाने को कहा- तो दिया ये जवाब

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले (Bilaspur district ) में एक आटा मिल में आटे (Floor) में रेत मिलाकर उसे बेचा जा रहा था। फूड इंस्पेक्टर (Fund Inspector) को इस मामले की जानकारी मिली तो उन्होंने मिल पर छापा मारा छापेमारी में पता चला कि लोगों ने शिकायत (Complaint) की थी वो सही पाई गई।

मिल मालिक आटे में करता था रेत की मिलावट, फूड इंस्पेक्टर ने चपाती बनवाकर खाने को कहा तो कर दिया इनकार
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले (Bilaspur district ) में एक आटा मिल में आटे (Floor) में रेत मिलाकर उसे बेचा जा रहा था। फूड इंस्पेक्टर (Fund Inspector) को इस मामले की जानकारी मिली तो उन्होंने मिल पर छापा मारा छापेमारी में पता चला कि लोगों ने शिकायत (Complaint) की थी वो सही पाई गई। फूड इंस्पेक्टर ने जब मिल मालिक से आटे में रेत होने की बात कही तो वो आना कानी करने लगा।

फूड इंस्पेक्टर ने इसके बाद उसी आटे की चपाती बनवाई और मिल मालिक को खाने के लिए कहा लेकिन आटे में रेत होने के कारण मिल मालिक ने चपाती खाने से इनकार कर दिया। आपको बात दें कि यह मामला बिलासपुर जिले का है।आपको बता दें कि बिलासपुर जिले के घुमारवीं में सिविल सप्लाई विभाग के इंस्पेक्टर ने जब एक आटा मिल के गोदाम में दबिश दी तो वहां पर मिलावटी आटा मिला तथा जांच में भी पाया गया कि आटे में रेत की मिलावट है। फूंड इंस्पेक्टर ने ने तुरंत कार्रवाई (Action) करते हुए। आटा गोदाम की सभी सप्लाई को रोक दिया है।

वहीं बिलासपुर आटा मिल से 90 क्विंटल आटे की सप्लाई लेकर जा रहे एक ट्रक को रोक दिया गया। जैसे ही गाड़ी गोदाम में पहुंची सिविल सप्लाई के फूड इंस्पेक्टर विनोद कपिल मौके पर पहुंच गए। इस आटे की सरकारी डिपो (Government depot) में सप्लाई होनी थी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सिविल सप्लाई के फूड इंस्पेक्टर विनोद कपिल ने मामले की पुष्टि की है। फूड इंस्पेक्टर का कहना हैं कि मिल के अंदर यह मिलावट खोरी खाफी दिनों से चल रही थी। फुड इंस्पेक्टर फिलहाल इस आटा मिल की सभी सप्लाई रोक दी है।

Next Story