Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बारिश और ओलावृष्टि ने तोड़ी किसानों की कमर, नाशपाती के पेड़ों को पहुंचा भारी नुकसान

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले (Solan District) में पिछले दो दिनों में हुई भारी बारिश (Heavy Rain) और ओलावृष्टि से किसानों के साथ-साथ व्यापारियों को भारी नुकसान हुआ है। एक तरफ जहां व्यापारी वर्ग चिंतित हैं वहीं किसान (Farmer) भी परेशान हैं।

बारिश और ओलावृष्टि ने तोड़ी किसानों की कमर, नाशपाती के पेड़ों को पहुंचा भारी नुकसान
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले (Solan District) में पिछले दो दिनों में हुई भारी बारिश (Heavy Rain) और ओलावृष्टि से किसानों के साथ-साथ व्यापारियों को भारी नुकसान हुआ है। एक तरफ जहां व्यापारी वर्ग चिंतित हैं वहीं किसान (Farmer) भी परेशान हैं। ओलावृष्टि से किसानों की फसल को भारी नुक्सान पहुंचा है। जिसके चलते किसान के माथे पर चिंता की लकीरें पड़ी है। वहीँ किसानों को नुक्सान होगा तो उसका असर बाज़ार पर भी पड़ेगा। जिसके चलते व्यवसायी भी परेशान हैं।

कोरोना संक्रमण के चलते व्यवसाय पहले ही बेहद कम हो रहा है। शहर के व्यापारियों को उम्मीद थी कि अगर इस बार फसल अच्छी होगी तो व्यवसाय फिर से पटरी पर आ जाएगा। लेकिन ओलावृष्टि की वजह से उनकी आशाएं टूटती हुई दिख रही हैं। सोलन के व्यापारियों ने कहा कि सोलन में हो रही ओलावृष्टि से खुमानी, प्लम, आड़ू और नाशपती आदि फलों को भारी नुक्सान पहुंचा है। ओलावृष्टि से व्यापारी वर्ग को भारी नुकसान पहुंचा है जिसकी

वहीं खेतों में लगी फसल को भी हानि हुई है। जिसके चलते किसानों को भारी घाटा हुआ है। उन्होंने कहा कि किसानों के साथ साथ वह भी बेहद चिंतित है क्योंकि अगर किसान घाटे में जाएगा तो सोलन के व्यापार पर भी उसका असर पड़ेगा। लोगों की क्रय करने की शक्ति घट जाएगी। जिसकी वजह से व्यापार घाटे से उभर नहीं पाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के चलते पहले ही व्यवसायी मंदी की मार झेल रहा है वहीं दूसरी और ओलावृष्टि ने किसानों की कमर तोड़ दी है।

Next Story