Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कुल्लू में धूमधाम से मनाई गई महाशिवरात्रि, 'बिजली महादेव मंदिर' में श्रद्धालुओं ने की पूजा

हिमाचल प्रदेश में महाशिवरात्रि (Mahashivaratri) का पर्व धूमधाम से मनाया गया। महाशिवरात्रि के मौके पर कुल्लू के 'बिजली महादेव मंदिर' (Bijli Mahadev Temple) में श्रद्धालुओं ने पूजा की। आपको बता दें कि बिजली मंदिर की बहुत मानया है। लोग यहां दूर-दूर से पूजा करने आते हैं।

कुल्लू में धूमधाम से मनाई महाशिवरात्रि,
X

कुल्लू में धूमधाम से मनाया गया महाशिवरात्रि पर्व।

हिमाचल प्रदेश में महाशिवरात्रि (Mahashivaratri) का पर्व धूमधाम से मनाया गया। महाशिवरात्रि के मौके पर कुल्लू के 'बिजली महादेव मंदिर' (Bijli Mahadev Temple) में श्रद्धालुओं ने पूजा की। आपको बता दें कि बिजली मंदिर की बहुत मानया है। लोग यहां दूर-दूर से पूजा करने आते हैं। वहीं दिल्ली से आए एक श्रद्धालु ने बताया हम दिल्ली से यहां कुल्लू में बिजली महादेव के दर्शन करने आएं है। यहां आने के लिए हमने शिवरात्रि के दिन को ही चुना था।

वहीं मनाली में अंजनी महादेव को मिनी अमरनाथ के नाम से जाना जाता है। मनाली से करीब से 12 किलोमीटर दूर पर्यटन स्थल सोलंग नाला से करीब 3 किलोमीटर की दूरी पर अंजनी महादेव का मंदिर है। यहां हर साल प्राकृतिक शिवलिंग बनता है। इस भी अंजनी महादेव में करीब 5 से 10 फीट ऊंचा शिवलिंग बना हुआ है।

मनाली घूमने आये पर्यटकों का कहना है कि वह मनाली आकर यहां आना कभी नहीं भूलते हैं। कहा जाता है कि माता अंजनी ने पुत्र प्राप्ति के लिए यहां तप किया था और तब भगवान शिव प्रकट हुए थे। मनाली घूमने आये पर्यटकों का कहना है कि वह मनाली आकर यहां आना कभी नहीं भूलते हैं। कहा जाता है कि माता अंजनी ने पुत्र प्राप्ति के लिए यहां तप किया था और तब भगवान शिव प्रकट हुए थे।

मनाली घूमने आये पर्यटकों का कहना है कि वह मनाली आकर यहां आना कभी नहीं भूलते हैं। कहा जाता है कि माता अंजनी ने पुत्र प्राप्ति के लिए यहां तप किया था और तब भगवान शिव प्रकट हुए थे। पुजारी हेमंती दास ने बताया कि हर साल बर्फ से शिवलिंग बनता है। इस जगह की खोज बाबा प्रकाश पुरी ने की थी।

Next Story