Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ठेकेदार पति को भुगतान नहीं मिलने पर धरने पर बैठ गई कैबिनेट मंत्री की बेटी मधु भंडारी, जानें पूरा मामला

हिमाचल सरकार में कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर की बेटी मधु भंडारी को अपने पति के बिलों का भुगतान नहीं होने पर धरने पर बैठना पड़ गया है। दूसरी ओर लोनिवि मंडल धर्मपुर के अधिशाषी अभियंता जयपाल नायक ने बताया है कि विभाग हर किसी को रूटीन में बिलों की अदायगी कर रहा है।

ठेकेदार पति को भुगतान नहीं मिलने पर धरने पर बैठ गई कैबिनेट मंत्री की बेटी मधु भंडारी, जानें पूरा मामला
X

मधु भंडारी

हिमाचल प्रदेश सरकार (Himachal Pradesh Government) में कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर (Cabinet Minister Mahendra Singh Thakur) की पुत्री मधु भंडारी (Madhu Bhandari) को अपने पति के बिलों का भुगतान करवाने के लिए धरने पर बैठना पड़ गया है। मंत्री की बेटी मधु भंडारी लोक निर्माण विभाग के धर्मपुर स्थित अधिशाषी अभियंता के ऑफिस पर दिन भर धरने पर बैठीं और पति के बिलों का भुगतान करने की गुहार लगाई। वहीं अब यह मामला पूरे हिमाचल में चर्चा का विषय बन गया है।

आपको बता दें कि मधु भंडारी हिमाचल के कैबिनेट महेंद्र सिंह ठाकुर की छोटी पुत्री हैं। मधु भंडारी का विवाह जोगिंद्रनगर उपमंडल में पड़ने वाले भराडू गांव के रहने वाले संजीव भंडारी के साथ हुआ है। वह पेशे से ठेकेदार हैं। वहीं मधु भंडारी ने बताया कि धर्मपुर स्थित लोक निर्माण ऑफिस में उनके पति की 11 करोड़ से ज्यादा राशि के बिल लंबित पड़े हुए हैं। उन बिलों का भुगतान नहीं हो रहा है। यह तमाम काम इस ऑफिस के तहत कराए गए थे। साथ ही ये काम पूर्ण हो चुके हैं।

मधु भंडारी के अनुसार बरैहल सड़क के 1.70 करोड़, प्रौन रांगड़ सड़क के 4.80 करोड़, छेज गवाला सड़क के 1.56 करोड़, ऊभक बनेरड़ी कांडापतन सड़क के 2.50 करोड़ के कार्य पूरे हो चुके हैं। सभी कार्यों को पूर्ण होने को भी कई साल बीत गए हैं। पर विभाग द्वारा भुगतान नहीं किया गया है। मधु ने बताया है कि इसको लेकर अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग मंडल धर्मपुर को कई बार लिखित व मौखिक आग्रह किया गया है। पर लंबित बिलों का भुगतान आज के दिन तक नहीं हो पाया है। जिसकी वजह से उन्हें मजबूरन धरने पर बैठना पड़ा।

मधु भंडारी ने चेतावनी दी है कि यदि कल को उन्हें या उनके पति को कुछ हो जाता है तो उसका जिम्मेदार लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता होगा। आपको बता दें पूर्व में इसी जगह पर मधु के पति एवं ठेकेदार संजीव भंडारी धरने पर बैठकर भुगतान की निवेदन कर चुके हैं। इस वक्त संजीव को अधिशाषी अभियंता ने भरोसा देकर धरना स्थल से उठाया था। उसके बाद मामले में कोई एक्शन नहीं लिया गया। इस पर अब उनकी पत्नी एवं मंत्री की बेटी मधु भंडारी को ही को धरने पर बैठना पड़ा। मामले पर लोनिवि मंडल धर्मपुर के अधिशाषी अभियंता जयपाल नायक से सवाल किए तो उन्होंने बताया कि विभाग सभी को रूटीन में बिलों का भुगतान कर रहा है।

और पढ़ें
Next Story