Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Lahaul-Spiti: भारी बारिश के चलते चंद्रभागा नदी में गिरा पहाड़, बहाव रुकने से खेतों का हुआ ऐसा हाल

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में बारिश कहर (Rain) बरपा रही है। भारी बारिश के चलते कई जगहों पर लैंडस्लाइड (Landslide) भी हुई है।

Lahaul-Spiti: भारी बारिश के चलते चंद्रभागा नदी में गिरा पहाड़, बहाव रुकने से खेतों का हुआ ऐसा हाल
X

पहाड़  (फाइल फोटो)

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में बारिश कहर (Rain) बरपा रही है। भारी बारिश के चलते कई जगहों पर लैंडस्लाइड (Landslide) भी हुई है। लाहौल-स्पीति जिले (Lahaul-Spiti District) के उदयपुर उपमंडल के नालडा के सामने पहाड़ी का एक बड़ा हिस्सा टूटकर चंद्रभागा नदी में गिर गया है। नदी का बहाव रुकने की वजह से लोग दहशत में हैं। चंद्रभागा नदी का बहाव रूकने से जूंडा, तडंग और जसरथ गांव की सैकड़ों बीघा जमीन फसल के साथ जलमग्न हो गई है। सैकड़ों बीघा फसल के नुकसान से होने से किसान भी चिंतित हैं।

जहां पर लैंडस्लाइड हुई है वहां स्थिति अभी भी सामान्य नहीं हुई है। वहीं जसरथ गांव अभी भी खतरा बना हुआ है। जसरथ पुल के एक छोर तक पानी पहुंच गया है। सुबह के समय पहाड़ी से भूस्खलन के बाद लोगों में हड़कंप मच गया। पानी का बहाव रूकने के बाद जिस तरह से स्थिति बनी हुई है। अगर यह पानी का रूकाव अचानक टूट गया तो लाहौल के कई गांवों के साथ पुलों को खतरा हो सकता है। इधर स्थिति को देखते हुए तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ. राम लाल मारकंडा शिमला में मुख्यमंत्री से मिलने पहुंचे हैं। पुलिस अधीक्षक लाहौल-स्पीति मानव वर्मा ने घाटी के सभी प्रधानों से ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर जाने को कहा है।

किन्नौर जिले में हुए लैंडस्लाइड के बाद अभी भी रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। मलवे से आज भी दो शव मिले हैं। वहीं करीब 40 से अधिक लोग अभी भी लापता हैं। किन्नौर हादसे में मरने वालों की संख्या 16 पहुंच चुकी है। लैंडस्लाइड के बाद जो वाहन नीचे गिर गए थे। रेस्क्यू टीम को हिमालच पथ परिवहन निगम और अन्य वाहनों के कुछ टुकड़े मिले हैं। रेस्क्यू टीम मलवा तक पहुंचने की पुरी कोशिश कर रहे हैं। वहीं जिनके परिजन लापता हैं उनके घर वाले भी उनकी तलाश में वहां पहुंचने लगे हैं।

Next Story