Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मंडी जाते समय बागवानी मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर को करना पड़ा विरोध का सामना, लोगों ने किया रोड जाम

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मंडी जिले (Mandi District) में बागवानी मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर (Horticulture Minister Mahendra Singh Thakur) को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। आपको बता दें कि प्रदेश में इन दिनों सेब के दामों में गिरावट दर्ज की गई है।

मंडी जाते समय बागवानी मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर को करना पड़ा विरोध का सामना, लोगों ने किया रोड जाम
X

मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर।

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मंडी जिले (Mandi District) में बागवानी मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर (Horticulture Minister Mahendra Singh Thakur) को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। आपको बता दें कि प्रदेश में इन दिनों सेब के दामों में गिरावट दर्ज की गई है। सेब (Apple) को लेकर हाल ही में दिए गए अजीब बयान को लेकर मंत्री घिर गए हैं। शुक्रवार को मंत्री महेंद्र सिंह ठियोग की पराला मंडी जा रहे थे कि बीच बाजार में उनके काफिले को रोक दिया गया। इस वजह से ठियोग शिमला हाईवे (Shimla Highway) जाम हो गया। काफी मशक्कत के बाद हाईवे खुलवाया गया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बागवानी मंत्री शुक्रवार दोपहर को पराला मंडी (Mandi) जा रहे थे। इस दौरान ठियोग बाजार में लोगों और बागवानों ने उनकी गाड़ी रोक ली। लोगों की मांग थी कि वह बागवानी मंत्री से बात करना चाहते हैं। हालांकि, मंत्री महेंद्र सिंह (Minister Mahendra Singh) गाड़ी से नहीं उतरे। पुलिस के काफी मनाने की कोशिश भी नाकाम दिखी। इस दौरान काफी गुथमगुत्था हुई। लोगों ने मंत्री के विरोध में जमकर नारेबाजी की।

इस मौके पर उनके भाजपा विधायक बलवीर वर्मा भी मंत्री के साथ थे। वह गाड़ी से उतरे और लोगों को मनाने की कोशिश की, लेकिन लोग नहीं माने और गो बैक के नारे लगाते रहे। इस दौरान कारोबारी अडाणी के खिलाफ भी नारेबाजी की। लोग नारेबाजी के साथ साथ पूछते रहे कि खुले में सेब कैसे बिकेगा। यह मंत्री जी उन्हें बताएं। दरअसल, हिमाचल में मौजूदा समय में सेब की मार्केट काफी गिरी हुई है। बागवानों को सेब के उचित दाम नहीं मिल रहे हैं।

वहीं, इस मुद्दे पर बागवानी मंत्री ने हाल ही में बयान दिया था कि कारोबारी खुले में सेब बेचें। इससे उनका पैकिंग सहित अन्य खर्चा बचेगा। हालांकि, खुले में सेब (Apple) की ब्रिकी नहीं होती है। क्योंकि यह देश और प्रदेश में सप्लाई होता है और आढती मंडियों में सेब खरीद कर ले जाते हैं। मंत्री के बयान का चौतरफा विरोध हुआ था और उनकी जमकर किरकिरी भी हुई थी।

और पढ़ें
Next Story