Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल न्यूज: अब डीडीयू अस्पताल में मरीजाें काे नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी, सीधी वार्डों में आएगी सप्लाई

डीडीयू अस्पताल में अब मरीजाें काे अब न आक्सीजन की कमी और न ही यहां पर सिलेंडर काे वार्डाें में रखने की जरूरत हाेगी। प्रशासन ने अस्पताल में नई पाइपलाइन बिछा दी है। अब इस पाइपलाइन से हर वार्ड में सीधे मरीजाें तक ऑक्सीजन पहुंचेगी।

हिमाचल न्यूज: अब डीडीयू अस्पताल में मरीजाें काे नहीं होगी ऑक्सीजन की कमी, सीधी वार्डों में आएगी सप्लाई
X
डीडीयू अस्पताल शिमला

डीडीयू अस्पताल में अब मरीजाें काे अब न आक्सीजन की कमी और न ही यहां पर सिलेंडर काे वार्डाें में रखने की जरूरत हाेगी। प्रशासन ने अस्पताल में नई पाइपलाइन बिछा दी है। अब इस पाइपलाइन से हर वार्ड में सीधे मरीजाें तक ऑक्सीजन पहुंचेगी। यहां पर एक ही जगह पर ऑक्सीजन प्लांट तैयार किया गया है। जिसमें केवल एक सिलेंडर से सभी ऑक्सीजन के प्वाइंट चल सकेंगे। इससे पहले यहां पर ऑक्सीजन पाइपलाइन नहीं बिछाई गई थी, जिससे हर वार्ड में मरीजाें के साथ ऑक्सीजन सिलेंडर रखने पड़ रहे थे। इससे बार-बार सिलेंडर बदलने में दिक्कतें आ रही थी। कई बार इमरजेंसी में अगर सिलेंडर बदलने में देरी हाे जाती थी ताे मरीज की जान पर बन जाती थी। मगर अब यह दिक्क्त नहीं आएगी।

डीडीयू अस्पताल जिला का सबसे बेहतर अस्पतालाें में आता है। बाजार के बीचाेबीच हाेने के कारण यहां पर मरीजाें की भीड़ काफी रहती है। राेजाना 1000 के करीब मरीज यहां पर इलाज के लिए आते हैं। यहां पर सुविधाओं की कमी के चलते अक्सर मरीजाें काे एडमिट नहीं किया जाता था और उन्हें आईजीएमसी भेज दिया जाता था। मगर अब यहां पर आसानी से मरीजाें का इलाज किया जाएगा। क्याेंकि एडमिट मरीजाें काे ज्यादात्तर आक्सीजन की जरूरत भी रहती है। ऑपरेशन में ऑक्सीजन सबसे ज्यादा जरूरी रहती है। डीडीयू अस्पताल के नए भवन का लाेकार्पण अप्रैल 2017 में तत्कालीन सीएम वीरभद्र सिंह ने किया था। 35 कराेड़ की लागत से बने इस भवन में अभी तक ऑक्सीजन पाइपलाइन नहीं बिछाई गई थी। इस कारण इसमें वार्डाें काे शिफ्ट करने में भी देरी हुई थी। इसके अलावा यहां पर ऑपरेशन थियेटर चलाना भी मुश्किल हाे गया था। अभी तक यहां पर ओटी भी शुरू नहीं हाे पया था। मगर अब नई पाइपलाइन बिछने से यहां पर जल्द ही ओटी शुरू किया जा सकेगा।

डीडीयू अस्पताल काे सरकार ने काेविड 19 केयर सेंटर बनाया है। जबकि एक माह पहले तक यहां पर अपना एक भी नया वेंटीलेटर नहीं था। मगर अब अस्पताल काे 11 नए वेंटीलेटर मिल चुके हैं। इसमें पांच वेंटीलेटर एक माह पहले सरकार से मिले थे। जबकि अब हाल ही में 6 नए और वेंटीलेटर मिल चुके हैं। इसके अलावा सात वेंटीलेटर आईजीएमसी प्रशासन ने यहां पर दिए हैं। ऐसे में अब यहां पर वेंटीलेटर की संख्या 18 हाे चुकी है। इससे अब यहां पर काेविड के साथ-साथ अन्य दिनाें में आने वाले मरीजाें के लिए भी काफी सुविधा हाेगी।


Next Story