Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल न्यूज: सेब सीजन 15 जुलाई से होगा शुरू, फल बेचने के लिए खुलीं 17 मंडियां

काेराेना संकट काे देखते हुए इन मंडियाें ट्रकाें काे एक साथ न भेजकर 10 से 20 ट्रकाें काे और बड़ी मंडियाें में कम से कम 50 ट्रकाें काे भेजने की व्यवस्था की गई है। ऐसा इसलिए ताकि मंडियाें में साेशल डिस्टेंसिंग के नियमाें का पालन किया जा सके।

हिमाचल न्यूज: सेब सीजन 15 जुलाई से होगा शुरू, फल बेचने के लिए खुलीं 17 मंडियां
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल में 15 जुलाई से सेब सीजन शुरू हाे रहा है। सेब सीजन काे लेकर 15 जुलाई काे फागू में सेब नियंत्रण कक्ष खाेल दिया जाएगा। इसके बाद शिमला और किन्नाैर जिला के सेब की इस कक्ष से निगरानी की जाएगी। इसके अलावा सभी उपमंडल स्तर पर सेब नियंत्रण कक्ष खाेले जाएंगे। सरकार और जिला प्रशासन ने सेब सीजन काे लेकर अपनी तैयारियां पूरी कर दी है। बागवानाें का माल उनके घर द्वार पर ही बिके इसके लिए 17 मंडियां खाेल दी गई हैं।

काेराेना संकट काे देखते हुए इन मंडियाें ट्रकाें काे एक साथ न भेजकर 10 से 20 ट्रकाें काे और बड़ी मंडियाें में कम से कम 50 ट्रकाें काे भेजने की व्यवस्था की गई है। ऐसा इसलिए ताकि मंडियाें में साेशल डिस्टेंसिंग के नियमाें का पालन किया जा सके। शिमला जिला में सेब की ज्यादा पैदावार काे देखते हुए यहां के सभी सेब उत्पादित क्षेत्राें में सेब मंडियाें काे खाेला गया है ताकि बागवानाें काे अपना उत्पाद लेकर प्रदेश से बाहर न जाना पड़े। बागवानाें से सेब खरीदने के लिए आढ़तियाें काे व्यवस्था भी सरकार ने कर दी है।

हिमाचल आने पर आढ़तियाें काे तीन दिन क्वारेंटाइन में रहना पड़ेगा। इसके बाद इनका समय समय चैकअप किया जाएगा। आढ़तियाें काे क्वारेंटाइन में रखने के लिए सरकार ने हाेटलाें की व्यवस्था की है। शिमला के उपायुक्त अमित कश्यप ने कहा कि 15 जुलाई से सेब सीजन शुरू हाे रहा है। इसकी सारी तैयारियां पूरी कर दी है। फागू में सेब के लिए कंट्राेल रुम खाेला जा रहा है। आढ़तियाें काे तीन दिन क्वारेंटिन में रहना हाेगा। सभी सेब उत्पादित क्षेत्राें में नई मंडियां खाेल दी गई है।

मार्केट में 400 से 2200 रुपए बिक रही है सेब की एक पेटी: मार्केट में इन दिनाें सेब के अच्छे दाम चल रहे है। अर्ली वैरायटी का सेब अलग अलग मंडियाें में 1256 रुपए से लेकर 2200 रुपए तक बिक रहा है। इसमें स्पर, गैल गाला और जेराेमाइन वैरायटी शामिल है।

राेहडू में सेब की ज्यादा पैदावार काे देखते हुए जिला प्रशासन ने सबसे ज्यादा छह मंडियां खाेली है। ये मंडियां मैंदली, चीढ़गांव, रैल, राेहडू हैलीपेड, समाला, अंटी में खाेली गई है। इसके अलावा जुब्बल काेटखाई के बागवानाें के लिए खड़ापत्थर और प्रगिनगर में, रामपुर के बागवानाें के लिए दत्तनगर, नारकंडा और सिंगापुर क्षेत्र में ये मंडियां खाेली गई है। चाैपाल में देहाल, मढावग, नेरवा में ठियाेग काेटखार्ई के बागवानाें के लिए पराला मंडी, शिमला के भट्ठाकुफर मंडी में बागवान अपना सेब बेच सकते है।


Next Story