Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए शिमला में फिर लॉकडाउन लगाने की मांग, बाजार बंद करने की चेतावनी

हिमाचल प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर हर व्यक्ति खौफ के साए में जी रहा है। रोजाना सौ से ज्यादा आ रहे कोरोना मामलों को लेकर भले ही प्रदेश सरकार गम्भीर दिखाई न दे रही हो, लेकिन शिमला व्यापार मंडल कोरोना के बढ़ते मामलों पर जरुर चिंतित है।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए शिमला में फिर लॉकडाउन लगाने की मांग, बाजार बंद करने की चेतावनी
X
फाइल फोटो

हिमाचल प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर हर व्यक्ति खौफ के साए में जी रहा है। रोजाना सौ से ज्यादा आ रहे कोरोना मामलों को लेकर भले ही प्रदेश सरकार गम्भीर दिखाई न दे रही हो, लेकिन शिमला व्यापार मंडल कोरोना के बढ़ते मामलों पर जरुर चिंतित है। कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर शिमला व्यापार मंडल ने सरकार से एक बार लॉकडाउन करने की मांग की है। बता दें कि शिमला में कोरोना के कुल मामले 97 हो गए हैं, इनमें एक्टिव केस 51 हैं। व्यापार मंडल के अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह का कहना है कि जब देश में कोरोना के बहुत कम मामले थे तो सरकार ने लॉक लगाया लेकिन जब लाखों की तादाद में कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं तो सरकार ने हर तरफ छूट दे दी है। ऐसे में प्रदेश में रोजाना एक सौ से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं, जिसमें शिमला जिला में भी 20 से 22 मामले रोजाना आ रहे है। इससे शहरवासी अब खौफ के साए में जीने को मजबूर हो गए हैं। उन्होंने जिला प्रशासन से मांग की है कि शहर में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए एक बार फिर लॉकडाउन किया जाना चाहिए ताकि कोरोना के मामले न बढ़े।

उन्होंने कहा कि कोरोना के मामले आने के बाद कई जगह सील कर दी हैं जिससे शहरवासी और ज्यादा चौकन्ने हो गए हैं। इंद्रजीत सिंह ने बाहरी राज्यों से आने वाले पर्यटकों पर भी पाबंदी लगाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि जब से बाहरी राज्यों के लोगों को प्रदेश में आने की खुली छूट दी है, तब से कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। शहर के भीतर भी रोजाना दर्जनों की संख्या में लोग आ रहे हैं। हालांकि उन्हें राज्य में प्रवेश करने से पहले कोरोना रिपोर्ट दिखाना जरूरी है लेकिन फिर भी कुछेक लोग प्रशासन को चकमा देकर सीमाओं के भीतर प्रवेश कर रहे हैं। इससे कोरोना संक्रमण के बढ़ने का खतरा और ज्यादा हो गया है। उन्होंने कहा कि यदि शहर में ऐसे ही कोरोना के मामलों में वृद्धि होती रही तो वे व्यापारियों के साथ मिलकर बाज़ार भी बंद करेंगे।

Next Story