Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Karwa Chauth 2020: शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान पर इस बार नजर नहीं आएंगी नवविवाहिताएं

करवा चौथ के दिन शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान में नजारा देखने वाला होता था, क्योंकि हजारों महिलाएं इस दिन सज धज कर यहां पहुंच कर चांद का दीदार करने के लिए आती थी। लेकिन इस बार कोरोना के चलते लोगों में काफी डर देखने को मिल रहा है।

Karwa Chauth 2020: शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान पर इस बार नजर नहीं आएंगी नवविवाहिताएं
X

फाइल फोटो

करवा चौथ के दिन शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान में नजारा देखने वाला होता था, क्योंकि हजारों महिलाएं इस दिन सज धज कर यहां पहुंच कर चांद का दीदार करने के लिए आती थी। लेकिन इस बार कोरोना के चलते लोगों में काफी डर देखने को मिल रहा है। क्योंकि भीड़ होने की वजह से कोरोना फैलने का खतरा बना हुआ है। शिमला के डीसी आदित्य नेगी ने बताया कि इस बार शिमला को अलग-अलग सेक्टर्स में बांटा गया है एडीएम लॉयन ऑर्डर को शिमला का नोडल ऑफिसर बनाया गया है। हर एक सेक्टर मजिस्ट्रेट के अंडर होगा और मजिस्ट्रेट का काम लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग करना, मास्क पहनना जैसे निर्देशों का पालन लोग कर रहे हैं या नहीं, इस पर चेक रखना होगा।

जिला प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि जो लोग घर पर रह कर ही चांद देख सकते हैं, वो घर से ही पूजा करें। इसके अलावा त्योहारों में बाजार में बढ़ रही भीड़ को नियंत्रण करने के लिए एडिशनल पुलिस की सहायता ली जाएगी। एनसीसी कैडेट्स की सहायता से लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य निर्देशों का पालन करने के लिए जागरूक किया जाएगा।

महिलाओं और नवविवाहिताओं को हर वर्ष करवा चौथ का इंतजार रहता है। लेकिन इस बार कोरोना के चलते हर त्योहार पर मार पड़ी है। शिमला में महिलाओं में रिज मैदान से चांद का दीदार करने का काफी क्रेज होता है। ऐसा इसलिए है कि क्योंकि पूरे शिमला में रिज मैदान पर ही सबसे पहले चांद निकलता है। इस बार रिज मैदान पर रात को 8 बज कर 6 मिनट पर चांद देखा जा सकता है। खास बात यह है कि इस बार व्रत के समय में भद्रा नहीं है। जिसके चलते चांद देखने पर व्रत तोड़ा जा सकता है। रिज पर किसी भी तरह के कार्यक्रम पर रोक रहेगी।

Next Story