Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दुर्गा क्लब के अस्तित्त्व पर संकट के बादल, 30 दिन में बिल्डिंग खाली करने के निर्देश

लोक निर्माण विभाग सोलन ने ऐतिहासिक दुर्गा क्लब सोलन को बिल्डिंग खाली करने का नोटिस दे दिया है। नोटिस के तहत दुर्गा क्लब के भवन को आगामी 30 दिन के भीतर खाली करने को कहा गया है। विभाग के नोटिस के बाद दुर्गा क्लब के अस्तित्त्व पर संकट के बादल गहरा गए हैं।

दुर्गा क्लब के अस्तित्त्व पर संकट के बादल, 30 दिन में बिल्डिंग खाली करने के निर्देश
X
फाइल फोटो

लोक निर्माण विभाग सोलन ने ऐतिहासिक दुर्गा क्लब सोलन को बिल्डिंग खाली करने का नोटिस दे दिया है। नोटिस के तहत दुर्गा क्लब के भवन को आगामी 30 दिन के भीतर खाली करने को कहा गया है। विभाग के नोटिस के बाद दुर्गा क्लब के अस्तित्त्व पर संकट के बादल गहरा गए हैं। यह पहली दफा है जब दुर्गा क्लब सोलन की बिल्डिंग को खाली करने के लिए नोटिस दिया गया है। ,अब दुर्गा क्लब के सदस्यों द्वारा नोटिस के रिप्लाई का खाका तैयार किया जा रहा है। गौर रहे कि दुर्गा क्लब सोलन को टेनिस क्लब की कहा जाता है।

वर्ष 1920 में यहां नर्वदा टेनिस कोर्ट बनाया गया था, लेकिन वर्ष 1939 में ब्रिटिश काल के दौरान बघाट रियासत के राजा दुर्गा सिंह ने यहां भवन का निर्माण किया और उन्होंने अपनी भूमि को क्लब के लिए दान दिया था। उन्हीं के नाम पर दुर्गा क्लब का गठन किया गया था। आजादी के बाद वर्ष 1948 में सरकार इस भूमि की मालिक बन गई और लोक निर्माण विभाग को इसका मालिकाना हक दिया गया था। वर्ष 1955 में भूमि लीज दुर्गा क्लब के नाम पर हो गई थी। क्लब का दावा है कि वर्ष 2055 तक लीज उनके पर है। बताया जा रहा है कि लीज हर पांच वर्ष के लिए करवाई जाती है।

क्लब परिसर में पिछले कई दशकों से सुबह-शाम राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की शाखाएं लगती हैं। कई बार विभिन्न मुद्दों को लेकर विवाद भी हुए हैं। यही नहीं, शहर की कई संस्थाएं भी समय-समय पर इसके विरोध में कूदती रही है। मौजूदा समय में क्लब के 650 के आसपास सदस्य हैं और इसमें शहर के कई नामी लोग भी हैं। आम आदमी को इस क्लब की सदस्यता लेना आसान नहीं है। क्लब की सदस्यता फीस करीब एक लाख रुपए है। वहीं अब लोक निर्माण विभाग द्वारा इस ऐतिहासिक क्लब को भवन खाली करने के नोटिस के बाद शहर भर में चर्चा का माहौल गर्म है।

Next Story