Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल में कोरोना का कहर जारी, कोरोना मरीज अब बद्दी में रखे जाएंगे

हिमाचल में कोरोना महामारी ने रफ्तार पकड़ ली है। कांगड़ा, हमीरपुर के बाद अब जिला सोलन भी इसकी गिरफ्त में है। बीते पांच दिन में इस जिले में कोरोना के करीब सौ नए मामले सामने आए हैं। इनमें ज्यादातर बाहरी राज्यों से आए कामगार हैं।

हिमाचल में कोरोना का कहर जारी, कोरोना मरीज अब बद्दी में रखे जाएंगे
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल में कोरोना महामारी ने रफ्तार पकड़ ली है। कांगड़ा, हमीरपुर के बाद अब जिला सोलन भी इसकी गिरफ्त में है। बीते पांच दिन में इस जिले में कोरोना के करीब सौ नए मामले सामने आए हैं। इनमें ज्यादातर बाहरी राज्यों से आए कामगार हैं। इसके चलते बीबीएन क्षेत्र में आधा दर्जन उद्योग सील कर दिए गए हैं। अब तक इस जिले में कोरोना के 155 मामले आ चुके हैं। जो अन्य जिलों की अपेक्षा सबसे ज्यादा एक्टिव हैं। मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते यहां कोविड सेंटर कम पड़ रहे हैं। सरकार ने अब बद्दी में कोविड सेंटर खोलने का फैसला लिया है। उद्योगों के सामने आ रहे कोरोना मरीज अब काठा अस्पताल नहीं, बल्कि बद्दी में रखे जाएंगे।

कांगड़ा और हमीरपुर के कोविड सेंटर में भी बेड क्षमता बढ़ाने का फैसला लिया है। जिला सोलन के अर्की और नौनी सेंटर में बाहरी राज्यों के आने वाले लोग 14 दिन क्वारंटीन होंगे। पॉजिटिव होने के बाद काठा शिफ्ट किए जाएंगे। अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने बताया कि बाहरी राज्यों से आ रहे लोग हिमाचल में पॉजिटिव पाए जा रहे हैं। इनमें ज्यादातर लोग उद्योगों में काम करने वाले हैं। उद्योग मालिक ने लेबर को एक साथ होस्टल में रखा है। इससे लोग एक-दूसरे के संपर्क में आ रहे हैं। इनके सैंपल लेने को विशेष टीमें लगाई गई हैं।

कोरोना के एकदम ज्यादा मामले सामने आने के बाद औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन के आधा दर्जन उद्योग सील कर दिए गए हैं। रिगले उद्योग में एक साथ सामने आए 63 मामलों के बाद निमंत्रण रिजॉर्ट में क्वारंटीन कामगारों के लिए इसे ही कोविड सेंटर बना दिया है। एसडीएम नालागढ़ प्रशांत देष्टा ने बताया कि नालागढ़ के सारा टेक्सटाइल उद्योग, रिगले, विनसम, अरिहंत, लेमटेक सहित एक प्लास्टिक उद्योग को सील कर दिया है। विनसम उद्योग का एक हिस्सा बंद किया है, जबकि सनोक्स को अभी सील नहीं किया है। इस उद्योग में ठेकेदार सहित तीन लोग पॉजिटिव निकले हैं। स्वास्थ्य विभाग ने सभी कामगारों के टेस्ट लेने की कसरत तेज कर दी है।


Next Story