Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

टूरिस्ट एक्टिविटीज़ के लिए खुला हिमाचल, सरकार ने पर्यटकों को प्रदेश में आने की अनुमति दी

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच हिमाचल प्रदेश सरकार ने सूबे के बॉर्डर खोल दिए हैं। अब सूबे में तीन माह से ठप्प पड़ी टूरिज्म एक्टिविटीज भी शुरू हो जाएगी।

himachal pradesh opens for tourism activity hoteliers says its welcome decision
X
हिमाचल में पर्यटकों का आना हुआ शुरू

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच हिमाचल प्रदेश सरकार ने सूबे के बॉर्डर खोल दिए हैं। अब सूबे में तीन माह से ठप्प पड़ी टूरिज्म एक्टिविटीज भी शुरू हो जाएगी।इन गतिविधियों को दोबारा से शुरु करने के लिए ही सरकार ने पर्यटकों को प्रदेश में आने की अनुमति प्रदान कर दी है। गाइडलाइंस भी प्रदेश में आने वाले पर्यटकों के लिए तय कर दी गई है। इनका पालन करना प्रदेश में घूमने के लिए आने वाले सैलानियों को करना आवश्यक होगा। राज्य आपदा प्रबंधन सेल की ओर से पर्यटन गतिविधियों को शुरू करने को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं।

प्रदेश में आने से पहले कोविड टेस्ट करवाना होगा अनिवार्य

प्रशासन की ओर से जो नियम तय किए गए हैं, उसके तहत जिन सैलानियों की कोरोना की रिपोर्ट नेगिटिव है, सिर्फ उन्हें ही प्रवेश प्रदेश में दिया जाएगा।पंजीकृत लैब से 72 घंटे पहले करवाना होगा। कोरोना टेस्ट इससे स्पष्ट है कि जो सैलानी प्रदेश में आना चाहते हैं, उन्हें पहले अपना कोविड टेस्ट करवाना होगा।तय नियमों में स्पष्ट किया गया है। पंजीकृत लैब से 72 घंटे पहले कोरोना की रिपोर्ट नेगेटिव होनी चाहिए। उन्हीं लोगों को हिमाचल प्रदेश में एंट्री दी जाएगी और उन्हें संस्थागत क्वारंटाइन होने की आवश्यकता नहीं होगी। वहीं, होटलों में पांच दिन की बुकिंग पर सैलानियों को रखा जाएगा।

ऑनलाइन बुकिंग करवाना होगा होटल

हिमाचल प्रदेश में आने के चाह रखने वाले सैलानियों को ऑनलाइन बुकिंग करवानी होगी। होटलों में कम से कम पांच दिन की बुकिंग पर्यटकों को करवानी होगी। प्रदेश में आने के लिए प्रदेश सरकार की ई-कोविड पास वेबसाइट पर 48 घंटे पहले पंजीकरण भी करवाना होगा।

क्या बोले होटल कारोबारी

हिमाचल प्रदेश में सरकार की ओर से सैलानियों को आने की अनुमति तो दे दी गई है, लेकिन अभी तक निजी होटल मालिकों की ओर से अपने होटल नहीं खोले गए हैं। उन्होंने सितंबर माह तक होटल ना खोलने का फैसला किया था। शिमला होटल एसोशिएशन के अध्यक्ष मोहिंद सेठ ने सरकार के फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि धीरे-धीरे होटल खोले जाएंगे। फिलहाल, होटल पदाधिकारियों की ट्रैनिंग चल रही है। अब होटल तथा अन्य पर्यटन से जुड़े व्यवसाइयों को उम्मीद की किरण जगी है कि उन्हें आने वाले सीजन में कुछ न कुछ ऑक्यूपेंसी अवश्य मिलेगी। प्रदेश को पर्यटकों के लिए खोलना एक सरहानीय कदम है।

मनाली में यूनियन दो फाड़

मनाली में होटल संचालक सरकार के फैसले पर दोफाड़ हो गए हैं। 50 फीसदी संचालक जहां होटल खोलना चाहते हैं। वहीं, 50 फीसदी इसके विरोध में हैं। इस संबध में मनाली में होटल संचालकों की मीटिंग जारी है। फिलहाल, खबर लिखे जाने तक कोई सहमति नहीं बन पाई है।

Next Story