Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

टैक्सी ड्राइवर मर्डर केस, स्वारघाट थाने के 15 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में टैक्सी चालक हत्याकांड़ में कुछ ऐसे जानकारियां सामने आई हैं जिससे पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठना लाजमी है। बताया जाता है कि कंदरौर हत्याकांड के चारों अभियुक्त चुराई गई कार में स्वारघाट थाने के सामने से 15 सिंतबर को सुबह 3.25 बजे नालागढ़ की ओर निकले थे।

टैक्सी ड्राइवर मर्डर केस, स्वारघाट थाने के 15 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर
X
टैक्सी ड्राइवर मर्डर केस

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में टैक्सी चालक हत्याकांड़ में कुछ ऐसे जानकारियां सामने आई हैं जिससे पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठना लाजमी है। बताया जाता है कि कंदरौर हत्याकांड के चारों अभियुक्त चुराई गई कार में स्वारघाट थाने के सामने से 15 सिंतबर को सुबह 3.25 बजे नालागढ़ की ओर निकले थे। ये पूरी वारदात सीसीटीवी में भी कैद हुई है। जबकि स्वारघाट थाना और ज़िले के अन्य सभी थानों को बिलासपुर कंट्रोल रूम द्वारा इस कार को पकड़ने की सूचना सुबह 1.15 बजे दी गई थी।

बिलासपुर पुलिस कंट्रोल रूम द्वारा दूसरी बार फिर सभी थानों को इस बारे सूचना सुबह 2.40 बजे दी गई। अब कार्रवाई करते हुए बिलासपुर पुलिस अधीक्षक दिवाकर शर्मा ने थाना स्वारघाट के कार्यकारी इंचार्ज और मुंशी समेत 15 पुलिस मुलाजीमों को जो दिनांक 14/15 सिंतबर की रात थाने में हाज़िर थे, सभी को लाइन हाजिर कर दिया है। वहीं उपपुलिस अधीक्षक नैना देवीजी संजय शर्मा को जांच के आदेश दे दिए गए हैं। थाने में नए स्टाफ की तैनाती ऑर्डर जारी कर दिए गए हैं।

एसएचओ स्वारघाट इस दौरान सात दिन की अवधि के लिए अवकाश पर थे, इसलिए उन्हें फिलहाल तब्दील नहीं किया गया है। उपाधीक्षक नैना देवी को अपनी जांच रिपार्ट में एसएचओ स्वारघाट पर भी टिपण्णी देने को कहा गया है कि क्या उन्होंने थाना कर्मचारियों को ऐसे मौकों पर की जाने वाली कार्रवाई के लिए कभी उनकी ब्रीफिंग नहीं की। जांच अधिकारी सात दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट बिलासपुर एसपी को सौंपेंगे।

मालूम हो कि 15 सितंबर को धर्मशाला-शिमला नेशनल हाइवे पर बिलासपुर के कंदरौर के समीप टैक्सी चालक हरीश कुमार की हत्या कर दी गई थी। सोलन जिले के कंडाघाट से चालक सवारी लेकर जा रहा था। इस दौरान टैक्सी चालक चार व्यक्तियों को सवारी के तौर पर मां चिंतपूर्णी मंदिर लेकर जा रहा था। गाड़ी में बैठे चार लोगों ने सुनसान रास्ते के चलते चालक पर तेज हथियारों से हमला किया था।

चालक ने अपनी जान बचाकर वहां से भागा और उक्त रोड़ से कुछ दूरी से एक ट्रक आ रहा था। ट्रक चालक ने व्यक्ति की हालात गंभीर देखते हुए उसे ट्रक में बिठाया और सीधे उसे जिला अस्पताल ले आया, लेकिन तब तक टैक्सी चालक ने दम तोड़ दिया था। मृतक की पहचान हरीश कुमार (32) निवासी जुबलहट्टी (शिमला) के रूप में हुई है।

Next Story