Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कांगड़ा और शिमला के बाद अब सभी जिलों में बनेंगे ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस

हिमाचल के कांगड़ा-शिमला जिलों में ऑनलाइन सेवाओं के पायलट प्रोजेक्ट की सफलता के बाद अब हिमाचल के सभी जिलों में इसका दायरा बढ़ाया जाएगा। प्रदेशभर में ड्राइविंग और कंडक्टर लाइसेंस को लेकर ऑनलाइन सेवा ही लागू की जाएगी।

कांगड़ा और शिमला के बाद अब सभी जिलों में बनेंगे ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल के कांगड़ा-शिमला जिलों में ऑनलाइन सेवाओं के पायलट प्रोजेक्ट की सफलता के बाद अब हिमाचल के सभी जिलों में इसका दायरा बढ़ाया जाएगा। प्रदेशभर में ड्राइविंग और कंडक्टर लाइसेंस को लेकर ऑनलाइन सेवा ही लागू की जाएगी। परिवहन विभाग ने यह फैसला लिया है। आपको बता दें कि पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर विभाग ने कांगड़ा और शिमला में 27 जुलाई को ऑनलाइन सेवाओं का शुभारंभ किया था। दोनों जिलों में 19 दिनों में ही 14 हजार लोगों ने ड्राइवर, कंडक्टर लाइसेंस समेत आरसी से जुड़े कार्य की मंजूरी के लिए ऑनलाइन आवेदन किया है।

विभाग की ओर से 5 हजार आवेदकों को ऑनलाइन अप्रूवल भी दी गई है। इससे पहले तक लोगों को लर्निंग और ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए एसडीएम या आरटीओ कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते थे। कागजी कार्रवाई की लंबी प्रक्रिया के चलते लोगों को परेशानी होती थी। लाइसेंस बनाने में 10 से 15 दिन का समय लग जाता था।

विभाग की ओर से 5 हजार आवेदकों को ऑनलाइन अप्रूवल भी दी गई है। इससे पहले तक लोगों को लर्निंग और ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए एसडीएम या आरटीओ कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते थे। कागजी कार्रवाई की लंबी प्रक्रिया के चलते लोगों को परेशानी होती थी। लाइसेंस बनाने में 10 से 15 दिन का समय लग जाता था। परिवहन विभाग की वेबसाइट पर ई-परिवहन व्यवस्था या सारथी पर जाकर लाइसेंस के लिए आवेदन किया जा सकेगा। इस पर ही ऑनलाइन फीस जमा होगी। मेडिकल और अन्य तरह के दस्तावेज भी ऑनलाइन ही अटैच किए जा सकते हैं।


Next Story