Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब दिल्ली को भी दौड़ेंगी एचआरटीसी की बसें, केजरीवाल सरकार ने दी संचालन की मंजूरी

हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसें जल्द ही दिल्ली के रूट पर भी फर्राटे भरती नजर आएंगी। केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के लिए बसों के संचालन को मजूंरी प्रदान कर दी है। अब रूटों का निर्धारण शेष है। रूटों के निधार्रित होते ही प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से दिल्ली के लिए बस सेवा आरंभ हो जाएगी।

अब दिल्ली को भी दौड़ेंगी एचआरटीसी की बसें, केजरीवाल सरकार ने दी संचालन की मंजूरी
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसें जल्द ही दिल्ली के रूट पर भी फर्राटे भरती नजर आएंगी। केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के लिए बसों के संचालन को मजूंरी प्रदान कर दी है। अब रूटों का निर्धारण शेष है। रूटों के निधार्रित होते ही प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से दिल्ली के लिए बस सेवा आरंभ हो जाएगी। सोमवार को दिल्ली सरकार द्वारा एचआरटीसी को बसों की आवाजाही को मंजूरी प्रदान की गई।

मजूंरी पत्र शाम के समय निगम प्रबंधन को प्राप्त हुआ। इसमें तीन नवंबर से बसों के संचालन को मंजूरी प्रदान की गई है। ऐसे में अब मंगलवार को निगम प्रबंधन द्वारा हिमाचल से दिल्ली को बसें संचालित करने के लिए रूट निर्धारित किए जाएंगे। इसके बाद प्रदेश से दिल्ली के विभिन्न रूटों पर बसों का संचालन आरंभ हो जाएगा।

सूत्रों की मानें तो प्रदेश से दिल्ली के लिए 17 से 18 रूटों पर यात्रियों को बस सुविधा का लाभ मिल सकता है। गौर हो कि प्रदेश से पहले ही विभिन्न इंटर स्टेट रूटों पर बसों का संचालन शुरू हो गया था, मगर दिल्ली से मंजूरी न मिलने पर वहां के लिए बसें नहीं चल पाई थीं। दिल्ली के लिए मार्च माह से बस सेवा बंद पड़ी हुई है। अब दिल्ली सरकार द्वारा मंजूरी प्रदान करने के बाद बसों का संचालन शुरू कर दिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि दिवाली के दौरान दिल्ली रूट पर सवारियों की काफी अधिकता रहती है। घर पर पर्व मनाने के लिए काफी संख्या में लोग पथ परिवहन निगम की बसों के माध्यम से यहां पहुचते हैं। दिवाली से पहले दिल्ली सरकार की ओर से अनुमति मिलने पर त्योहारी सीजन में घर आने वाले लोगों को सुविधा मिलेगी। निगम प्रबंधन द्वारा त्योहारी सीजन में लोगों को सुविधा प्रदान करने के लिए रूटों को वर्कआउट किया जा रहा है। रूटों को वर्कआउट के बाद दिवाली से पहले इंटर स्टेट रूटों पर बसों की संख्या बढ़ाने और नए रूटों पर बसों के संचालन की भी योजना है।

Next Story