Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Himachal News: विधानसभा का मॉनसून सत्र कल से, सरकार की घेराबंदी का प्रयास करेगा विपक्ष

हिमाचल प्रदेश विधानसभा का मॉनसून सत्र सोमवार से शुरू होने जा रहा है। दोपहर दो बजे से शुरू होने वाले इस सत्र की शुरूआत तीन दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि सेे होगी। पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी, विधानसभा के पूर्व सदस्य चन्द्रवर्कर तथा राकेश वर्मा की मृत्यू पर सदन में शोक जताया जाएगा।

Himachal News: विधानसभा का मॉनसून सत्र कल से, सरकार की घेराबंदी का प्रयास करेगा विपक्ष
X
फाइल फोटो

हिमाचल प्रदेश विधानसभा का मॉनसून सत्र सोमवार से शुरू होने जा रहा है। दोपहर दो बजे से शुरू होने वाले इस सत्र की शुरूआत तीन दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि सेे होगी। पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी, विधानसभा के पूर्व सदस्य चन्द्रवर्कर तथा राकेश वर्मा की मृत्यू पर सदन में शोक जताया जाएगा। 10 दिनों तक चलने वाले मॉनसून सत्र से हिमाचल की राजनीति में गर्माहट आनी तय है। सदन में कई अहम मुद्दों को उठाया जाएगा जिसपर सरकार की घेराबंदी का प्रयास विपक्ष करेगा तो वहीं सत्तापक्ष पलटवार की कोशिश में रहेगा।

जानकारी के अनुसार विधानसभा के मौजूदा सत्र के लिए अभी तक 811 सवाल विधायकों द्वारा भेजे गए हैं। पहले दिन ही सदन में गर्माहट लाने के लिए राशन पर सबसिडी का मुद्दा उठने वाला है जिसका एक सवाल प्रश्रकाल में लगाया गया है। शुरूआत में ही राशन सबसिडी के इस सवाल से बीपीएल के कोटे का राशन खाने वाले लोगों का मुद्दा जोरदार तरीके से सदन में उठेगा यह तय है जिसकी रणनीति भी कांग्रेस ने बना रखी है।

कांग्रेस की ओर से कर्मचारियों की राशन सबसिडी खत्म करने का सवाल पहले दिन की कार्यवाही में उठाया गया है वहीं इसके अलावा सदन में पहले दिन स्वास्थ्य संस्थाओं में रिक्तियों और प्रदेश में कोविड के हालातों पर जवाब मांगे जाएंगे। हालांकि स्वास्थ्य महकमे की खामियों के उजागर करने वाले सवाल दागे गए हैं मगर इनके बहाने प्रदेश में कोविड की मौजूदा स्थिति और उसकी विफलताओं को उठाए जाने के पूरे आसार हैं।

इनके अलावा ट्रॉमा सेंटरों की खस्ताहाल व्यवस्थाओं, नाबार्ड, पीएमजीएसवाई व दूसरी महत्वपूर्ण योजनाओं में एफसीए के फंसे मसलों को विपक्ष के विधायक उठाने वाले हैं। वहीं शिक्षा विभाग में एसएमसी अध्यापकों की नियुक्तियों को लेकर अहम मसला भी उठाने की तैयारी है जिसपर अभी तक असमंजस की स्थिति बनी हुई है।

इसके साथ सेब पर लगे स्कैब रोग का मसला भी सदन में पहले दिन ही उठने वाला है जिसपर सरकार की घेराबंदी होगी। खेल विधेयक की मौजूदा स्थिति पर भी जवाब तलबी होगी जिसे लेकर सरकार ने पहले कई बड़े एलान किए हैं। वहीं एचपीएमसी में आउट सोर्स की भर्तियों का भी अहम मसला यहां पर उठाया जाने वाला है। पहले दिन सदन की कार्यवाही में विधायक रमेश धवाला चर्चा लेकर आ रहे हैं। रोजगार सृजन हेतू कृषि को बढ़ावा देने के संबंध में वह चर्चा करेंगे जिसपर सरकार बताएगी कि इसके लिए क्या कदम उठाए जा रहे हैं।

मॉनसून सत्र में सदन के भीतर की व्यवस्थाएं बदली हुई नजर आएंगी। यहां सत्तापक्ष की ओर मंत्रियों की कुर्सियों पर तीन नए चेहरे दिखेंगे। सुखराम चौधरी ऊर्जा मंत्री बने हैं वहीं राकेश पठानिया वन मंत्री बनाए गए हैं तथा राजेन्द्र गर्ग को खाद्य आपूर्ति महकमा दिया है जो विभागीय जवाब देते हुए दिखाई देंगे। कोविड के कारण नेताओं व अफसरों में भय भी देखा जा रहा है। कुछ नेता व अधिकारी कोविड के शिकार हो चुके हैं। ऐसे में सदन के भीतर विधायकों की कुर्सियों के बीच में दूरी बनाए रखने के लिए पॉली फेब्रिक शीट भी लगाई गई है। साथ ही कोविड के नियमों की भी यहां पर अनुपालना सुनिश्चित की जाएगी।

कोविड के चलते दर्शक दीर्घा को पूरी तरह से खाली रखा जा रहा है। इस बार दर्शकों को यहां पर आने की इजाजत नहीं है जिनके पास नहीं बनाए गए हैं। वहीं भीड़भाड़ ना हो इसके लिए भी विधानसभा परिसर में इंतजाम हैं। कम सं या में ही यहां पर कर्मचारी दिखेंगे।

Next Story