Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Mausam ki Jankari: हिमाचल में मौसम ने ली करवट, शून्‍य के करीब पहुंचा तापमान

Mausam ki Jankari: हिमाचल में घाटी के तापमान में आई कमी से अब हाड़ कंपा देने वाली ठंड शुरू हो गई है। पानी भी जमने लगा है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने एक नवंबर तक पूरे प्रदेश में मौसम साफ बना रहने का पूर्वानुमान जताया है।

Mausam ki Jankari: हिमाचल में मौसम ने ली करवट, शून्‍य के करीब पहुंचा तापमान
X

मौसम की जानकारी

Mausam ki Jankari: हिमाचल में घाटी के तापमान में आई कमी से अब हाड़ कंपा देने वाली ठंड शुरू हो गई है। पानी भी जमने लगा है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने एक नवंबर तक पूरे प्रदेश में मौसम साफ बना रहने का पूर्वानुमान जताया है। हिमाचल में 15 नंवबर के बाद पूरे प्रदेश में सर्दियों की दस्तक होगी। मैदानी इलाकों में सुबह शाम हल्की ठंड है। सोमवार को पूरे प्रदेश में धूप खिलने के बावजूद अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री की कमी दर्ज की गई है।

प्रदेश में सर्दियों का आगाज अब लगभग शुरू हो ही चुका है। सूबे के जनजातीय जिले लाहौल में इस सीजन की पहली बर्फबारी हुई है। धौलाधर की ऊंची पर्वत शृंखलाओं, सीबी रेंज की पहाड़ियों, घेपन पीक सहित चंद्राघाटी के कोकसर, सिस्सू, खंगसर, गोंधला तथ्सस तोदघाटी के कालोंग, तिनो, योचे और दारचा के रिहायशी क्षेत्रों में दो से तीन सेंटीमीटर तक हिमपात हुआ है। रोहतांग और बारालाचा दर्रा में पांच सेंटीमीटर जबकि कुंजम दर्रा में चार सेंटीमीटर तक बर्फ गिरी है। इससे समूचे क्षेत्र में शीतलहर चल पड़ी है।

जिला मुख्यालय केलांग के ऊंचाई वाले इलाके भी बर्फ से सफेद हो गए हैं। घाटी में पिछले दो से तीन माह से मौसम साफ था, लेकिन 25 अक्तूबर की शाम से अचानक बादलों ने यहां डेरा डाला और रात होते-होते अटल टनल रोहतांग के नॉर्थ पोर्टल, तेलिंग और युरामूर्ति गांव में बर्फबारी हुई है।

रोहतांग दर्रा से होकर मनाली-लेह मार्ग, केलांग-काजा मार्ग पर वाहनों की आवाजाही सामान्य है जबकि चंद्रताल जाने वाले वाहनों को कोकसर से आगे नहीं जाने दिया जा रहा है। इससे पहले, 23 अक्टूबर को चंबा के साचपास दर्रे में भी ताजा बर्फबारी के बाद किलाड़-चंबा रूट पर चलने वाली बस को बंद कर दिया गया था। रविवार रात को केलांग में इस सीजन में पहली बार न्यूनतम तापमान माइनस में रिकॉर्ड हुआ है और केलांग में न्यूनतम तापमान माइनस एक डिग्री तक पहुंच गया है।

Next Story