Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजकीय सम्मान के साथ हुआ शहीद मेजर दीक्षांत थापा का अंतिम संस्कार, नम आंखों से दी अंतिम विदाई

लद्दाख में शहीद हुए जिला कांगड़ा के मेजर दीक्षांत थापा को उनके पैतृक गांव बाड़ी में सैन्य और राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। अंतिम विदाई में सैंकड़ों लोगों ने नम आंखों से श्रद्धांजलि दी।

राजकीय सम्मान के साथ हुआ शहीद मेजर दीक्षांत थापा का अंतिम संस्कार, नम आंखों से दी अंतिम विदाई
X
शहीद मेजर दीक्षांत थापा को नम आंखों से दी अंतिम विदाई

दीक्षांत थापा सेना की मेकेनिकल इन्फेंट्री में थे। सेना द्वारा एक ट्रेलर पर बीएमपी को लोड कर रहे थे। अचानक एक अन्य ट्रक ट्रेलर से जा टकराया, बीएमपी ट्रेलर सीधा उन पर आ गिरा। यह हादसा लेह के कारू-कियारी के करीब हुआ, जो लेह से करीब 45 किलोमीटर दूर है।

लद्दाख में शहीद हुए जिला कांगड़ा के मेजर दीक्षांत थापा को उनके पैतृक गांव बाड़ी में सैन्य और राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। अंतिम विदाई में सैंकड़ों लोगों ने नम आंखों से श्रद्धांजलि दी। अपने बड़े बेटे की पार्थिव देह देख मां बेसुध हो गई।

शहीद मेजर दीक्षांत थापा की ड्यूटी लद्दाख में थी। उनकी पार्थिव देह हवाई जहाज से मंगलवार सुबह पठानकोट पहुंची। यहां से पार्थिव देह को उनके पैतृक गांव इंदौरा तहसील के कंदरोड़ी के बाड़ी गांव ले जाया गया। यहां पर शहीद का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।


Next Story