Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मनाली-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे लैंडस्लाइड के चलते बाधित, 100 से अधिक गाड़ियां फंसी

हिमाचल में दवाड़ा के समीप पहाड़ी दरकने से मनाली-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे पिछले 30 घंटों से बंद पड़ा हुआ है। ऐसे में ट्रकों समेत सेब की पेटियों से लदी करीब 200 गाड़ियां फंसी हुई हैं। सेब की यह गाड़ियां कुल्लू जिले से देश की विभिन्न सब्जी मंडियों के लिए रवाना हुई थीं।

उत्तराखंड में अंतरराज्यीय मार्गों पर सार्वजनिक वाहनों के संचालन की मिली अनुमति, एसओपी के तहत होगा नियम लागू
X
अंतरराज्यीय मार्गों पर सार्वजनिक वाहनों के संचालन की मिली अनुमति

हिमाचल में दवाड़ा के समीप पहाड़ी दरकने से मनाली-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे पिछले 30 घंटों से बंद पड़ा हुआ है। ऐसे में ट्रकों समेत सेब की पेटियों से लदी करीब 200 गाड़ियां फंसी हुई हैं। सेब की यह गाड़ियां कुल्लू जिले से देश की विभिन्न सब्जी मंडियों के लिए रवाना हुई थीं। लेकिन भूस्खलन के चलते मनाली-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे तीन शुक्रवार देर रात से बाधित चल रहा है।

जहां करीब पांच से छह सौ वाहन फंसे हैं। हाईवे के बंद होने का सबसे अधिक खमियाजा कुल्लू जिला के बागवानों को भुगतना पड़ रहा है। करोड़ों का सेब रास्ते में फंस जाने से बागवानों और व्यापारियों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। हालांकि रविवार दोपहर तक नेशनल हाईवे के बहाल होने की उम्मीद जताई जा रही है। बागवानों द्वारा भेजा गया सेब मंडियों में देरी से पहुंचने पर इसका असर सेब के दामों पर भी पड़ सकता है।

जिससे बागवानों को नुकसान उठाना पड़ेगा। कुल्लू के बागवान एनएच के बहाल होने का इंतजार कर रहे हैं। इधर, एनएच बाधित होने से कई बागवानों ने सेब का तुड़ान भी बंद कर दिया है। एपीएमसी कुल्लू के सचिव सुशील गुलेरिया ने कहा कि कुल्लू जिले की विभिन्न मंडियों के साथ बागवानों ने अपने स्तर पर बाहरी राज्यों के लिए भेजा गया सेब दवाड़ा के पास तीन दिनों से फंसा हुआ है।


Next Story