Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल के स्कूलों में आज से पहुंचेगा 100 प्रतिशत स्टाफ

हिमाचल के सरकारी स्कूलों को आज से शिक्षकों के लिए खोल दिया गया है। स्कूलों में शिक्षकों से छात्रों को सुरक्षित कक्षा में पढ़ाई के बारे में सलाह ली जाएगी। उसके बाद ही छात्रों को स्कूल बुलाया जाएगा।

हिमाचल के स्कूलों में आज से पहुंचेगा 100 प्रतिशत स्टाफ
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल के सरकारी स्कूलों को आज से शिक्षकों के लिए खोल दिया गया है। स्कूलों में शिक्षकों से छात्रों को सुरक्षित कक्षा में पढ़ाई के बारे में सलाह ली जाएगी। उसके बाद ही छात्रों को स्कूल बुलाया जाएगा। स्कूल प्रिसिंपल शिक्षकों से कक्षाओं के प्लान के बारे भी चर्चा की जाएगी। राज्य सरकार ने सरकारी स्कूल, कालेजों के लाए आदेश जारी किए है कि सभी शिक्षकों को प्रिसिंपल के पास हाजिरी लगानी होगी।

वहीं, आगामी आदेशों तक स्कूल, कालेजों के शिक्षक ऑनलाइन हाजिरी नहीं लगाएंगे। इसके अलावा सरकार ने शिक्षण संस्थान के प्रबंधनों को आदेश दिए है कि संक्रमण से बचाव को लेकर स्कूल-कालेजों के स्टॉफरूम में सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जाए। इसके साथ ही सभी शिक्षण संस्थान स्कूल खोलने को लेकर माइक्रोप्लान बनाएंगे। 17 अक्तूबर तक इसका खाका तैयार कर स्कूलों को देना होगा। अहम है कि प्रदेश सरकार ने बच्चों को स्कूल बुलाने के लिए ई-पीटीएम करवाने का फैसला किया है।

15 से 17 अक्तूबर के बीच ई-पीटीएम करवाई जाएगी, जिसमें शिक्षा मंत्री छात्रों से जुड़ेंगे और पूछेंगे कि क्या अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए तैयार है या नहीं। इसके साथ ही ई-पीटीएम में बच्चों ने क्विज प्रतियोगिता में कैसा परफार्म किया है, हर घर पाठशाला के तहत ऑनलाइन कक्षाओं का फीडबैक कैसा रहा है, वह सब भी अभिभावकों के साथ शेयर किया जाएगा। स्कूल खोले जाने को लेकर कैबिनेट में फैसला लिया जाना था, लेकिन मुख्यमंत्री के होम क्वारटाइन होने के बाद इसे टालना पड़ा था।

शिक्षकों व अन्य स्टॉफ को मास्क अनिवार्य किया जाएं। इसके साथ ही शैक्षणिक गतिविधियों को आगे बढ़ाते हुए ऑनलाइन के साथ ऑफलाइन स्टडी पर भी जोर देने की तैयारी की जा रही है। बता दें कि शिक्षा विभाग के एसओपी के तहत आदेश है कि 9वीं से 12वीं कक्षा के बच्चे यदि चाहें, तो स्वेच्छा से अभिभावकों की सहमति लेकर जरूरी परामर्श के लिए स्कूल आ सकते हैं।

मार्च माह के बाद कोविड में अब शिक्षक और गैर शिक्षक स्टाफ को रेगुलर स्कूल बुला लिया गया है, इसमें निर्देश जारी किए गए हैं कि आईसीटी व कंप्यूटर लैब के जरिए बच्चों को शिक्षक स्कूल से ही पढ़ाएंगे। इससे पहले जब 21 सितंबर से स्कूल खोले गए थे, शिक्षकों को 50-50 के रोस्टर में स्कूल बुलाया जा रहा था, लेकिन अब पूरा स्टाफ स्कूल आएगा।


Next Story