Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छह और सात अगस्त को हाेगी एचपीपीएससी की परीक्षा

हिमाचल प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन की परीक्षा 6 और 7 अगस्त को होनी है। इसको लेकर लोक सेवा आयोग ने भर्ती परीक्षाओं के संचालन के लिए स्टेंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (एसओपी) जारी कर दिया है। बुखार, जुकाम और खांसी के लक्षण वाले अभ्यर्थियों को अलग कमरे में बैठाकर परीक्षाएं लेने का फैसला लिया गया है।

छह और सात अगस्त को हाेगी एचपीपीएससी की परीक्षा
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन की परीक्षा 6 और 7 अगस्त को होनी है। इसको लेकर लोक सेवा आयोग ने भर्ती परीक्षाओं के संचालन के लिए स्टेंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (एसओपी) जारी कर दिया है। बुखार, जुकाम और खांसी के लक्षण वाले अभ्यर्थियों को अलग कमरे में बैठाकर परीक्षाएं लेने का फैसला लिया गया है। बाहरी राज्यों से आने वाले अभ्यर्थियों के एडमिट कार्ड को ही प्रदेश में आने का एंट्री पास बताया गया है। परीक्षा केंद्र में हाजिरी शीट भरने से पहले और बाद में भी अभ्यर्थियों के हाथ सेनिटाइज करने को कहा गया है। परीक्षा केंद्रों में मास्क पहनकर आने वालों को ही एंट्री दी जाएगी। परीक्षा केंद्रों में सफाई और सेनिटाइजेशन को लेकर भी निर्देश जारी किए गए हैं। दो अभ्यर्थियों के बीच में कम से कम दो मीटर की दूरी बनाने को भी कहा गया है। अगस्त में सबसे पहले छह और सात तारीख को अधीनस्थ चयन सेवा की मुख्य परीक्षा होने जा रही है। करीब दो हजार अभ्यर्थी इसमें भाग लेंगे। शिमला, मंडी और धर्मशाला में परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। इस परीक्षा के सफल संचालन ने लिए शनिवार को आयोग के सचिव आशुतोष गर्ग ने एसओसी जारी किया है।

इसके तहत बताया गया है कि प्रदेश सरकार ने राज्य में परीक्षा देने के लिए बाहरी राज्यों से आने वालों के लिए 72 घंटे का समय दिया है। इन्हें प्रदेश में आने से पहले कोविड ई पास पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा। परीक्षा का एडमिट कार्ड पोर्टल पर अपलोड करना होगा। इस एडमिट कार्ड के आधार पर अभ्यर्थी और उसके साथ एक परिजन प्रदेश में एंट्री पा सकेंगे। परीक्षा केंद्रों में प्रवेश देने से पहले सभी की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। अगर किसी में बुखार, खांसी या जुकाम के लक्षण पाए जाते हैं तो उन्हें अगल कमरे में परीक्षा के लिए बैठाया जाएगा। आरोग्य सेतु एप सभी के मोबाइल फोन पर होना जरूरी रहेगा। अभ्यर्थियों को एक-एक कर प्रवेश दिया जाएगा। इनके बीच पर्याप्त दूरी रखी जाएगी। परीक्षा केंद्रों में ड्यूटी देने वाले स्टाफ को मास्क के साथ ग्लब्ज भी पहनने होंगे। आयोग के सचिव ने बताया कि सभी परीक्षा केंद्रों में पहले और बाद में सेनिटाइजेशन की जाएगी। शौचालयों की सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। पीने के पानी की भी व्यवस्था रहेगी। पूरे परीक्षा केंद्र में सेनिटाइजर के साथ साबुन की भी व्यवस्था की जाएगी।


Next Story