Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल में भारी बारिश जनजीवन प्रभावित, मनाली-लेह मार्ग पर भूस्खलन होने से सड़क बंद

हिमाचल में लगातार हो रही बारिश से ऊना शहर फिर जलमग्न हो गया है। हालात यह हैं कि लोग घरों से निकल भी नहीं पा रहे हैं। जलभराव ने लोगों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है। डीसी और एसपी कार्यालय परिसर में जलभराव हो गया है।

हिमाचल में भारी बारिश जनजीवन प्रभावित, मनाली-लेह मार्ग पर भूस्खलन होने से सड़क बंद
X
हिमाचल में भारी बारिश के बाद भूस्खलन होने से सड़क पर पड़े पत्थर।

हिमाचल में लगातार हो रही बारिश से ऊना शहर फिर जलमग्न हो गया है। हालात यह हैं कि लोग घरों से निकल भी नहीं पा रहे हैं। जलभराव ने लोगों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है। डीसी और एसपी कार्यालय परिसर में जलभराव हो गया है। कुल्लू जिले में रविवार रात से हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। मनाली-लेह मार्ग के 14 मोड़ के पास भूस्खलन होने से सड़क बंद हो गई है। यहां एक ट्रक छह घंटों तक दलदल में फंसा रहा। ऐसे में वाहनों की आवाजाही थमी रही। सूचना मिलने के बाद बीआरओ ने मौके पर पहुंचकर मलबा हटाकर मार्ग को बहाल कर दिया है। जिले में कई मार्ग भूस्खलन व पत्थर गिरने से अवरूद्ध हो गए हैं।

मनाली-लेह मार्ग समेत एक दर्जन सड़कों में भूस्खलन व पत्थर गिरने का खतरा अभी भी बना हुआ है। प्रशासन ने लोगों से बरसात को देखते हुए एहतियात बरतने की अपील की है। वहीं दूसरी ओर ब्यास व इसकी सहायक नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। फोरलेन निर्माण से चौकीडोभी गांव में भूस्खलन का खतरा बना हुआ है। बारिश के चलते ग्रामीण चैन की नींद नहीं सो पाए हैं। फोरलेन का निर्माण कर रही कंपनी यहां पर सुरक्षा दीवार नहीं लगा पाई है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने 10 और 11 अगस्त को भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इस दौरान शिमला, सिरमौर, ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर, कांगड़ा, मंडी और सोलन जिलों के कई क्षेत्रों में भारी बारिश और तूफान की चेतावनी भी जारी की गई है। प्रदेश में 15 अगस्त तक मौसम खराब रहेगा।

कांगड़ा में भारी बारिश से सड़क बहा

कांगड़ा जिला के डाडासीबा का स्यूल खड्ड-डुहकी लिंक रोड भारी बारिश के चलते बह गया। एक साल पहले दो करोड़ से बनी यह सड़क अब पूरी तरह गड्डों में बदल चुकी है। वहीं, स्थानीय लोगों ने आरोप लगाए कि लोक निर्माण विभाग की ओर से बनाई इस सड़क में घटिया सामग्री प्रयोग की गई। इससे यह बरसात का एक सीजन भी नहीं झेल पाई। उन्होंने सरकार व जिलाधीश कांगड़ा से इस निर्माण कार्य की जांच करवाने की मांग की है। उधर, अधिशाषी अभियंता हर्ष पुरी ने बताया कि मौके पर जेई को भेजा जाएगा।


Next Story