Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Himachal Bird Flu : स्वास्थ्य विभाग ने इंसानों में बर्ड फ्लू की जांच के लिए सरकार से मांगी अनुमति, इतने हजार पक्षियों की अब तक मौत

Himachal Bird Flu : हिमाचल प्रदेश के पौंग डैम में 2600 से अधिक प्रवासी पक्षियों की मौत के बाद बर्ड फ्लू का खतरा अब इंसानों में भी मंडरा रहा है। हिमाचल स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए एहतियातन प्रदेश सरकार से इंसानों में बर्ड फ्लू की टेस्टिंग के लिए अनुमति मांगी है।

स्वास्थ्य विभाग ने इंसानों में बर्ड फ्लू की जांच के लिए सरकार से मांगी अनुमति
X

बर्ड फ्लू

Himachal Bird Flu : हिमाचल प्रदेश के पौंग डैम में 2600 से अधिक प्रवासी पक्षियों की मौत के बाद बर्ड फ्लू का खतरा अब इंसानों में भी मंडरा रहा है। हिमाचल स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए एहतियातन प्रदेश सरकार से इंसानों में बर्ड फ्लू की टेस्टिंग के लिए अनुमति मांगी है। अगर किसी व्यक्ति में लक्षण पाए जाते हैं तो उसकी समय पर जांच कर उपचार के लिए विभाग ने यह कदम उठाया है। इसके अलावा फील्ड कर्मचारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि फ्लू के लक्षण मिलने पर तुरंत स्वास्थ्य विभाग से संपर्क करें।

आपको बता दें कि मंगलवार को विभाग ने एच5 एन1 फ्लू को हराने के लिए कांगड़ा जिले में ब्लॉक स्तर पर दवाइयां पहुंचाई हैं। आयुर्वेद विभाग लोगों को इम्युनिटी बढ़ाने के लिए घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक काढ़ा इस्तेमाल करने की सलाह दे रहा है। अधिकारियों का कहना है कि घर में भी लोग तुलसी, लौंग, काली मिर्च और आंवले का इस्तेमाल कर अपनी इम्युनिटी बढ़ा सकते हैं।

वहीं अधिकारियों का कहना है कि किसी भी फ्लू से बचने के लिए इम्युनिटी और विटामिन-सी लेना बेहद जरूरी है। फ्लू होने पर लोगों से दूर रहें। अगर किसी युवक में लक्षण पाए जातें हैं तो वे दुसरे लोगों से दूरी बनाए रखें। फ्लू होने पर मास्क जरूर पहनें वहीं मांस, मछली और अंडे का परहेज करें। लापरवाही बरतने पर यह फ्लू अन्य लोगों में आसानी से फैल सकता है।

वहीं संक्रमित पक्षियों और मुर्गों से भी दूरी बनाए रखें। एच5 एन1 यानी बर्ड फ्लू से लड़ने और इसकी रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से तैयार है। विभाग ने ब्लॉक स्तर पर जिलाभर में दवाइयां पहुंचा दी हैं। वहीं, अगर किसी व्यक्ति में लक्षण पाया जाता है तो विभाग उनकी टेस्टिंग करेगा। टेस्ट होने पर किसी भी व्यक्ति में इसके लक्षणों का पता लगाया जा सकता है। इसके लिए संबंधित विभाग से टेस्टिंग की अनुमति मांगी गई है।

Next Story