Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना की वजह से हिमाचल में सैलानियों की संख्या अभी काफी कम

हिमाचल में कोरोना महामारी की बंदिशों में मिली ढील के बाद सैलानियों ने प्रदेश का रुख तो करना शुरू कर दिया है, मगर अभी भी प्रदेश में कम संख्या में सैलानी आ रहे हैं। इसके चलते होटल कारोबारी अभी भी निराश ही हैं।

कोरोना की वजह से हिमाचल में सैलानियों की संख्या अभी काफी कम
X
फाइल फोटो

हिमाचल में कोरोना महामारी की बंदिशों में मिली ढील के बाद सैलानियों ने प्रदेश का रुख तो करना शुरू कर दिया है, मगर अभी भी प्रदेश में कम संख्या में सैलानी आ रहे हैं। इसके चलते होटल कारोबारी अभी भी निराश ही हैं। इस वीकेंड की बात करें, तो राजधानी शिमला के होटलों में वीकेंड के लिए नाममात्र की अग्रिम बुकिंग ही है। इसमें भी यह आशंका जताई जा रही है कि जिन्होंने एक-दो दिन के लिए बुकिंग करवाई है, वे भी आएंगे या नहीं, इसका भी कोई अता-पता नहीं है।

उल्लेखनीय है कि बीते वीकेंड पर राजधानी शिमला सहित राज्य के अन्य सैरगाहों में कुछ सैलानी पहुंचे थे। हालांकि सैलानियों की संख्या अभी काफी कम है, मगर आगामी दिनों में बंदिशों में और ढील मिलने से प्रदेश में फिर से पहले की तरह रौनक लौटने की उम्मीदें जताई जा रही थी, मगर इस वीकेंड पर भी सैलानियों की संख्या में कुछ ज्यादा इजाफा दिखता नजर नहीं आ रहा। ऐसे में होटल कारोबारियों में चिंता देखी जा सकती है। टूरिज्म इंडस्ट्री स्टेक होल्डर एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष महेंद्र सेठ ने माना कि राज्य के बॉर्डर एरिया में आवाजाही की जो कई शर्तें अभी भी लागू हैं, उनके चलते भी पर्यटक कम ही रूझान दिखा रहे हैं।

प्रदेशाध्यक्ष महेंद्र सेठ ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बार्डर खोलने पर 15 सितंबर को फै सला लिया जाना है, अगर सरकार बार्डर खोल देती है और अन्य शर्तें खत्म की जाती हैं, तो पड़ोसी राज्य से सैलानियों की आमद में इजाफा आ सकता है। उन्होंने कहा कि होटल कारोबारी भी बॉर्डर खोलने व अन्य शर्तें हटाने की मांग सरकार के समक्ष रखेंगे, ताकि प्रदेश में पर्यटन कारोबार फिर से पटरी पर लौट सके।

अभी कुछ जगह खुल गए हैं होटल

राज्य में कोरोना संक्रमण के चलते करीब पांच माह से पर्यटन कारोबार ठप पड़ा हुआ है, जिसकी भारी मार होटल कारोबारियों को झेलनी पड़ रही है। राज्य सरकार द्वार होटल खोलने की अनुमति दे दी गई है। प्रदेश के कई स्थानों पर होटल खुल भी गए हैं, मगर सैलानियों के न आने से प्रदेश के होटल सुनसान पड़े हैं, मगर सैलानियों की आमद शुरू होने से रौनक लौटने की उम्मीद जताई जा रही है।

Next Story