Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का सीसे हेलीपैड पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर किया स्वागत

सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण अटल टनल रोहतांग के लोकार्पण को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी के तीन अक्तूबर को प्रस्तावित दौरे से एक दिन पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार दोपहर को सेना के हेलीकॉप्टर से मनाली पहुंचे।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का सीसे हेलीपैड पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर किया स्वागत
X
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अटल टनल रोहतांग का निरीक्षण करते हुए।

हिमाचल प्रदेश में मनाली स्थित अटल टनल रोहतांग के उद्घाटन में एक दिन बचा है। तीन अक्तूबर को उद्घाटन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आएंगे। लेकिन, पीएम मोदी के दौरे एक दिन पहले शुक्रवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह मनाली पहुंच गए हैं। हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर, सांसद रामस्वरूप ने सासे हेलीपैड पर रक्षामंत्री का स्वागत किया है। इस दौरान केंद्रीय वित्तराज्य मंत्री अनुराग ठाकुर भी हैं। इसके बाद रक्षा मंत्री ने अटल टनल रोहतांग का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने बीआरओ के अधिकारियों से टनल को लेकर जानकारी हासिल की। रक्षा मंत्री ने मनाली में हिम और हिमस्खलन अध्ययन प्रतिष्ठान (सासे) का भी दौरा किया।

रक्षा मंत्री आज मनाली-लेह सामरिक मार्ग पर बने तीन पुलों का उद्घाटन कर सकते हैं। इनमें मनाली-लेह मार्ग पर बना प्रदेश का सबसे लंबा 360 मीटर दारचा पुल भी शामिल है। मनाली के साथ पलचान और नॉर्थ पोर्टल में चंद्रा पुल भी शामिल है। अटल टनल रोहतांग के नॉर्थ पोर्टल में चंद्रा नदी पर 100 मीटर लंबे पुल को बीआरओ ने रिकॉर्ड डेढ़ महीने में लांच किया, जबकि केलांग से करीब 32 किमी आगे दारचा में बना 360 मीटर लंबा पुल 467 किमी लंबे मनाली-लेह सड़क मार्ग पर सबसे लंबा पुल है।

यह ब्रिज उत्तरी भारत का दूसरा और हिमाचल का पहला सबसे लंबा स्टील ट्रस्ट ब्रिज है। स्टील ब्रिज से अब सेना के वाहन मनाली.लाहौल-लेह-लद्दाख के बीच बिना किसी गतिरोध के आ-जा सकेंगे। इससे न केवल सेना बल्कि स्थानीय लोगों और सैलानियों को भी लाभ होगा। उधर, रक्षा मंत्री के दौरे को देखते हुए कोकसर से आगे कुठविहार में सभी वाहनों को रोक दिया गया है। कुठविहार में कड़ी सुरक्षा है और सड़क पर नाका लगाया है। सभी आने वाले वाहनों की पूरी जानकारी ली जा रही है। कोकसर में भी इसी तरह की पूछताछ की जा रही है ताकि सुरक्षा में किसी तरह की चूक न रहे।


Next Story