Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना योद्धा भी वायरस की चपेट में, टीएमसी के अब तक 22 डाक्टर संक्रमित

हिमाचल में टीएमसी अस्पताल अधिकतर डाक्टर काेरोना से संक्रमित हो गए हैं। डा. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज टांडा में अब तक 25 हैल्थ वर्कर्ज कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं।

कोरोना योद्धा भी वायरस की चपेट में,  टीएमसी के अब तक 22 डाक्टर संक्रमित
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल में टीएमसी अस्पताल अधिकतर डाक्टर काेरोना से संक्रमित हो गए हैं। डा. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज टांडा में अब तक 25 हैल्थ वर्कर्ज कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। इनमें से सबसे ज्यादा गायनी डिपार्टमेंट के 18 डाक्टर संक्रमित हैं, जबकि ऑर्थो विभाग से एक चिकित्सक, सर्जरी के एक चिकित्सक, मेडिसिन के एक चिकित्सक और एक एनेसथीसिया चिकित्सक भी कोरोना संक्रमित हैं। इन कुल 22 चिकित्सकों के अलावा दो स्टॉफ नर्सेज और एक वार्ड ब्वाय को भी कोरोना हुआ है।

फिलहाल इन सभी 25 हैल्थ पर्सनल को कोविड सेंटर में रखा गया है, मगर टांडा के गायनी विभाग में सबसे ज्यादा 18 चिकित्सकों के पॉजिटिव आने व अधिकतर चिकित्सकों के आइसोलेशन में होने से टीएमसी का लेबर रूम बंद हैं। हालांकि अस्पताल प्रशासन की मानें तो तीन सितंबर से टांडा में यह सुविधा दोबारा शुरू की जा सकती है।प्रशासन द्वारा टांडा के गायनी विभाग व लेबर रूम को रोजाना सेनेटाइज भी किया जा रहा है, ताकि संक्रमण ओग न फैल सके।

वहीं कांगड़ा व पालमपुर अस्पताल को इन दिनों गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी के लिए चुना गया है। अब तक जहां टांडा में रोजाना 600 से अधिक मरीजों के भर्ती होने के आंकड़े सामने आते रहे हैं, लेकिन वे भी अब कम हो गए है। सोमवार को टांडा में भर्ती मरीजों की संख्या केवल 209 रही। ओपीडी भी बेहद कम थी। टीएमसी में एमर्जेंसी व रैफरल मरीजों का ही उपचार किया जाएगा। वहीं रूटीन चैकअप व फॉलोअप के लिए आने वाले मरीजों को अब उनके समीप के अस्पतालों में जाने को कहा गया है। टीएमसी प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि वे पहले की तरह सामान्य बीमारियों को लेकर अस्पताल की ओपीडी में पहुंचकर भीड़ का हिस्सा न बनें।

Next Story