Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

निजी स्कूलों की मनमानी: पूरी फीस न देने पर ऑनलाइन ग्रुप से हटा दिए 195 बच्चे

हिमाचल प्रदेश के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने अभी दो दिन पहले बोला था कि निजी स्कूल बच्चों से सिर्फ ट्यूशन फीस ही वसुलें। लेकिन सोलन जिले के दो निजी स्कूलों ने अपनी मनमानी करनी शुरू कर दी है।

निजी स्कूलों की मनमानी: पूरी फीस न देने पर ऑनलाइन ग्रुप से हटा दिए 195 बच्चे
X

हिमाचल प्रदेश के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने अभी दो दिन पहले बोला था कि निजी स्कूल बच्चों से सिर्फ ट्यूशन फीस ही वसुलें। लेकिन सोलन जिले के दो निजी स्कूलों ने अपनी मनमानी करनी शुरू कर दी है। यहां बद्दी और नालागढ़ के पीर स्थान स्थित दो बड़े निजी स्कूल प्रबंधनों ने पूरी वार्षिक फीस न देने पर 195 बच्चों को ऑनलाइन ग्रुप से डिलीट कर दिया है। इसको लेकर अभिभावकों ने एसडीएम नालागढ़ महेंद्र गुर्जर से शिकायत की है। शिमला जिले में भी कुछ स्कूलों ने ऐसा किया है। शिमला के अलावा नालागढ़, बद्दी, सोलन, कुल्लू, मनाली, मोहल, पालमपुर, नगरोटा में भी प्रदर्शन हुए।

अभिभावकों का कहना है कि हर माह नियमित रूप से ट्यूशन फीस जमा करवा रहे हैं लेकिन स्कूल प्रबंधन साढ़े छह हजार वार्षिक फीस जमा करवाने की मांग पर अड़ा है।अभिभावक अमरजीत सिंह, भाग सिंह, सुखविंद्र सिंह, संजीव कुमार, वीरेंद्र कुमार, कुलदीप सिंह, जितेंद्र सिंह, मनजीत सिंह, हेमंत शर्मा, रविंद्र सिंह, सतनाम सिंह, अमन वर्मा, मनमीत सिंह, हरपाल सिंह, मनीष ठाकुर, संदीप कुमार, आरती ठाकुर, अनुराधा, रविंद्र कौर, कुलविंद्र कौर, कमलजीत कौर और हरिंद्र कौर ने कहा कि कोरोना संकट के चलते बच्चे घर पर ही हैं। पहले नौ घंटे पढ़ाई होती थी जो अब दो घंटे हो रही है, वह भी सिर्फ एक या दो विषय की।

सरकार ने कहा है कि अभिभावक केवल ट्यूशन फीस दें लेकिन स्कूल प्रबंधन पूरी फीस मांग रहा है। इसे देने को अभिभावक तैयार नहीं है जिसके चलते स्कूल ने बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई के ग्रुप से हटा दिया है। अब बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई भी बंद हो गई है। अभिभावकों ने बताया कि अधिकांश लोगों के रोजगार छूट गए हैं। स्कूल प्रबंधन ऐसे में सहयोग करने की बजाय उन पर खर्चों का दबाव बढ़ा रहे हैं। कुछ अभिभावकों ने लैपटॉप और महंगे फोन खरीदे हैं। हर माह रिचार्ज करने पड़ते हैं। इस पर अब स्कूल प्रबंधन बच्चों को हटाने की धमकी दे रहे हैं। उधर, एसडीएम ने प्रतिनिधिमंडल को उपनिदेशक के साथ बातचीत कर समस्या का हल निकालने का आश्वासन दिया है।

Next Story