Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोराेना काल में प्रभावित हुआ सेब कारोबार, अभी तक मार्केट में पहुंचे 1.42 करोड़ सेब बॉक्स

हिमाचल प्रदेश में इस बार सेब बागानों व सेब कारोबारियों को नुकसान हो रहा है। प्रदेश में इस बार सेब के दाम कम मिल रहे हैं। वहीं प्रदेश में सेब सीजन एक करोड़ 42 लाख 26 हजार सेब बॉक्स तक पहुंच गया है।

कोराेना काल में प्रभावित हुआ सेब कारोबार, अभी तक मार्केट में पहुंचे 1.42 करोड़ सेब बॉक्स
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश में इस बार सेब बागानों व सेब कारोबारियों को नुकसान हो रहा है। प्रदेश में इस बार सेब के दाम कम मिल रहे हैं। वहीं प्रदेश में सेब सीजन एक करोड़ 42 लाख 26 हजार सेब बॉक्स तक पहुंच गया है। इस आंकड़े की बीते सेब सीजन से तुलना की जाए तो अभी तक सेब सीजन 1.32 करोड़ सेब बॉक्स कम चल रहा है। बीते साल सेब सीजन के दौरान अभी तक सेब उत्पादक क्षेत्रों से 2.74 करोड़ सेब बॉक्स विभिन्न मंडियों में पहुंच गए थे। मौजूदा समय में प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में सेब सीजन प्रगति पर है। मध्यम ऊंचाई वाले कुछ स्थानों पर भी सीजन आखिरी चरण पर है। अब बहुत ही कम संख्या में सेब मार्केट में आने की उम्मीद है। ऐसे में राज्य में सेब उत्पादन का आंकड़ा बीते सेब सीजन के कम रहने की संभावना जताई जा रही है। प्रदेश में इन दिनों ऊंचाई वाले क्षेत्रों में सेब तुड़ान कार्य शुरू हो गया है।

राज्य के इन क्षेत्रों से गुणवता युक्त फसल मार्केट में आ रही है। ऐसे में मार्केट में सेब के दाम सामान्य बने हुए हैं। कोरोना काल में बीते सेब सीजन के मुकाबले अच्छे दाम मिलने से बागबान खुश हैं। फल मंडियों में अभी भी सेब के दाम 400 से 2100 रुपए प्रति बॉक्स तक चले हुए हैं। बागबानी विभाग से प्राप्त जानकारी के तहत प्रदेश से विभिन्न फल मडि़योें को एक करोड़ 42 लाख 26 हजार सेब बॉक्स विभिन्न मंडियों में पहुंच चुके हैं।

बीते सेब सीजन के दौरान इस अवधि तक 2.74 करोड सेब बॉक्स फल मंडियों में पहुंच चुके थे। प्रदेश में सेब के पौधों में फ्लावरिंग के समय ठंड पड़ने से सेब की सेटिंग प्रभावित हुई थी, वहीं इसके बाद ओलावृष्टि व तूफान से सेब की फसल को काफी नुकसान हुआ था। इसके चलते इस सेब सीजन के दौरान राज्य में कम उत्पादन का आकलन लगाया जा रहा है। फिर भी बागबानों को फसल के अच्छे दाम मिल रहे हैं।

Next Story