Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल के सभी शिक्षकों-छात्रों के होंगे कोरोना टेस्ट, अब तक 120 शिक्षक और 103 छात्र आ चुके हैं पॉजिटिव

हिमाचल प्रदेश के सरकारी स्कूलों में छात्र व शिक्षकों के रैंडमली कोरोना टेस्ट किए जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग ने यह फैसला लिया है, वहीं अब सरकारी व प्राइवेट दोनों ही स्कूल के शिक्षक छात्रों के सैंपल लिए जाएंगे।

हिमाचल के सभी शिक्षकों-छात्रों के होंगे कोरोना टेस्ट, अब तक 120 शिक्षक और 103 छात्र आ चुके हैं पॉजिटिव
X

फाइल फोटो

हिमाचल प्रदेश के सरकारी स्कूलों में छात्र व शिक्षकों के रैंडमली कोरोना टेस्ट किए जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग ने यह फैसला लिया है, वहीं अब सरकारी व प्राइवेट दोनों ही स्कूल के शिक्षक छात्रों के सैंपल लिए जाएंगे। ये सैंपल न केवल कोरोना के लक्षण आने, बल्कि छात्र व शिक्षकों की संख्या के आधार पर लिए जाएंगे। बता दें कि प्रदेश में 103 छात्र और 120 शिक्षक कोरोना पॉज़िटिव आ चुके हैं। हालांकि सरकारी स्कूल के अभी तक आठ ही छात्र कोरोना के पॉज़िटिव आए हैं। फिलहाल जिस तरह स्कूल-कालेज खुल गए हैं। बावजूद इसके अभी भी छात्र शिक्षण संस्थानों में नहीं आ रहे है। अभिभावक अभी भी अपने छात्रों को शिक्षण संस्थानों में भेजने से डर रहे हैं।

यही डर दूर करने के लिए सरकार ने फैसला लिया है कि स्कूल में छात्र व शिक्षकों के रैंडमली टेस्ट लिए जाएंगे। शिक्षक छात्रों के सैंपल भरने के साथ ही सरकार ने निर्णय लिया है कि अब स्कूल परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग रखना जरूरी है। स्कूल प्रबंधन को एक बार फिर आदेश जारी किए गए हैं कि वे स्कूल में किसी भी तरह की कोई पार्टी न रखें। वहीं, लंच टाइम में एक साथ न बैठें। इसी तरह सरकार ने शिक्षकों को एक ही गाड़ी में ट्रैवल करने को भी मना किया है।

स्कूल-कालेजों में रेगुलर कक्षाएं शुरू तो हो गई हैं, लेकिन अभी भी यहां छात्रों की संख्या 20 और दस प्रतिशत के बीच में ही है। इसी तरह कालेज में तो इससे भी कम दस प्रतिशत तक ही छात्रों की हाजिरी स्कूलों में लग रही है। जिस तरह मामले बढ़ रहे हैं, तो कहीं न कहीं अभिभावकों का विश्वास जीत पाना सरकार व शिक्षा विभाग के लिए मुश्किल हो रहा है। सरकार ने शिक्षकों से अपील की है कि वे बड़े आयोजनों में जाने से बचें। शिक्षा सचिव राजीव शर्मा ने कहा है कि स्कूल में छात्रों व शिक्षकों की दो गज दूरी ही इस वायरस को रोकने में सफल हो सकती है।

एक दिन में लिए जाएंगे इतने सैंपल

एक स्कूल से 50 व 30 के बीच छात्रों के सैंपल लिए जाएंगे, वहीं छात्रों की ज्यादा संख्या होने पर कालेज में 150 छात्रों का रैंडमली टेस्ट किया जाएगा। बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य विभाग की टीम खुद भी स्कूल, कालेजों में जाकर छात्रों की काउंसिलिंग की जाएगी। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीम चैक करेगी कि स्कूल में छात्रों की सुविधा के लिए हैंड सेनेटाइजर, हैंड वॉश, मास्क व अन्य स्वास्थ्य किट से जुड़ा सामान उपलब्ध है या नहीं।

Next Story