Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bhai Dooj 2020: हिमाचल प्रदेश में मनाया जाएगा भाई दूज का पर्व, जानें महत्व और पूजा करने की सही विधि

Bhai Dooj 2020: दिवाली के दो दिन बाद देश भर में भाई-बहन के पवित्र रिश्ते का प्रतीक भैयादूज मनाया जाता है। इस बार 16 नवंबर को भैयादूज है। मान्यता है कि इस दिन बहनें अपने भाई के माथे पर तिलक लगा कर उसे अपने हाथ का बना भोजन कराती हैं।

Bhai Dooj 2020: जानें भाई दूज का महत्व और पूजा करने की सही विधि
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

Bhai Dooj 2020: दिवाली के दो दिन बाद देश भर में भाई-बहन के पवित्र रिश्ते का प्रतीक भैयादूज मनाया जाता है। इस बार 16 नवंबर को भैयादूज है। मान्यता है कि इस दिन बहनें अपने भाई के माथे पर तिलक लगा कर उसे अपने हाथ का बना भोजन कराती हैं। जवाली के ज्योतिषी पंडित विपन शर्मा का कहना है कि इस दिन बहनों को शुभ मुहूर्त पर ही भाई के माथे पर तिलक लगाना चाहिए और विधि-विधान के साथ पूजा करनी चहिए।

इस बार भैयादूज के दिन भाई के माथे पर तिलक लगाने का शुभ मुहूर्त दोपहर एक बजकर 10 मिनट से लेकर तीन बजकर 17 मिनट तक है। उन्होंने कहा कि इस दिन सुबह उठ कर स्नान करें और साफ -सुथरे कपड़े पहनें। इसके बाद घर के आंगन में गेहूं के आटे से चौक बनाएं और चारों ओर गोबर के कंडे रखें। तिलक लगाने से पूर्व आपको भाई की हथेली पर चावल का लेप लगाना चाहिए और उसके ऊपर सिंदूर लगाकर पान का पत्ता, सुपारी और फूल अर्पित करने चाहिए।

इतना करने के बाद भाई के हाथों पर जल धीरे-धीरे गिराएं और मन में यह मंत्र बोलें गंगा पूजे यमुना को यमी पूजे यमराज को, सुभद्रा पूजा कृष्ण को, गंगा यमुना नीर बहे मेरे भाई की आयु बढ़े। इसके बाद भाई के माथे पर तिलक लगाएं और उसे भोजन कराएं।

बहनें अंगूठे से लगाएं टीका

भाई के माथे पर तिलक लगाने की सही विधि यह है कि आप अपने सीधे हाथ के अंगूठे से उसे तिलक लगाएं। इससे भाई की आयु, तो बढ़ेगी ही साथ ही उसकी आर्थिक स्थिति भी सुधरेगी। इतना ही नहीं, अंगूठे से तिलक लगाने पर भाई की सेहत भी दुरूस्त बनी रहेगी।

Next Story