Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल सरकार ने पर्टकों के लिए अंतर्राज्यीय बॉर्डर खोले, लेकिन मनाली में होटल खोलने से किया इनकार

हिमाचल प्रदेश में सरकार ने ठप पड़े टूरिज्म सेक्टर को दोबारा पटरी पर लाने के लिए टूरिस्ट की एंट्री के लिय अनुमति दे दी है, लेकिन इस फैसले के बाद मनाली में होटल संचालकों ने होटल खोलने से इनकार भी कर दिया है।

हिमाचल सरकार ने पर्टकों के लिए अंतर्राज्यीय बॉर्डर खोले, लेकिन मनाली में होटल खोलने से किया इनकार
X
मनाली में पर्यटकों का पहुंचना शुरू है

हिमाचल प्रदेश में सरकार ने ठप पड़े टूरिज्म सेक्टर को दोबारा पटरी पर लाने के लिए टूरिस्ट की एंट्री के लिय अनुमति दे दी है, लेकिन इस फैसले के बाद मनाली में होटल संचालकों ने होटल खोलने से इनकार भी कर दिया है। जानकारी के मुताबिक पर्यटन नगरी मनाली में मनाली होटलियर एसोसिएशन ने होटलों को आगामी सितंबर तक नहीं खोलने का निर्णय लिया गया है।

मनाली होटलियर एसोसिएशन की बैठक में यह फैसला लिया गया है। कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए मनाली में संचालक होटलों को खोलने के हक मे नहीं है। बैठक में निर्णय लिया गया कि यदि आगामी सितंबर तक प्रदेश में कोरोना वायरस के मामलों में कमी आती है तो ही वह अपने होटलों को खोलने पर विचार करेंगे।

मनाली होटलियर एसोसिएशन के अध्यक्ष अनुप ठाकुर ने बताया कि मनाली में होटलों को खोलने के बारे में विचार-विमर्श के लिए बैठक हुई। इसमें सभी होटल मालिकों ने एक ही बात कही कि वह फिलहाल अपने होटलों को नहीं खोलेंगे।

उन्होने कहा कि बैठक में सभी लोगों की एक ही राय थी कि इस समय होटलों को खोलने का उचित समय नहीं है। क्योंकि प्रदेश में कोरोना वायरस के मामले लगातार मामले बढ़ते जा रहे हैं और ऐसे में वह अपने फायदे के लिए दूसरे लोगों की जान जोखिम मे नहीं डाल सकते हैं। सभी लोगों के हित को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। यदि सितंबर तक कोरोना वायरस के मामलों में कमी आती है तो वह अपने होटलों को खोलने पर विचार करेंगे। बता दें कि हिमाचल में कोरोना के कुल मामले 1077 हो गए हैं.

Next Story