Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल सरकार का फैसला: अब शादियों में होंगे सिर्फ 100 मेहमान शामिल

हिमाचल प्रदेश में कोरोना महामारी को देखते हुए। हिमाचल सरकार ने सभी प्रकार के कार्यक्रमों के लिए भीड़ की अधिकतम संख्या 100 निर्धारित कर दी है। इसके तहत शादी समारोह या अन्य सभी कार्यक्रमों में इंडोर गैदरिंग कुल क्षमता की 50 फीसदी तक होगी।

हिमाचल सरकार का फैसला: अब शादियों में होंगे सिर्फ 100 मेहमान
X

सीएम जयराम ठाकुर (फाइल फोटो)

हिमाचल प्रदेश में कोरोना महामारी को देखते हुए। हिमाचल सरकार ने सभी प्रकार के कार्यक्रमों के लिए भीड़ की अधिकतम संख्या 100 निर्धारित कर दी है। इसके तहत शादी समारोह या अन्य सभी कार्यक्रमों में इंडोर गैदरिंग कुल क्षमता की 50 फीसदी तक होगी। एक जगह पर 100 से ज्यादा लोगों को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी। लेकिन खुले स्थान में सामाजिक दूरी और फेस केवर के नियमों के तहत पहले की तरह असंख्य लोग जुट सकते हैं। इसके लिए दो गज की दूरी बेहद जरूरी रहेगी।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने रविवार को प्रदेश के सभी उपायुक्तों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक आयोजित की थी। जिलों से मिले फीडबैक के बाद मुख्यमंत्री ने सोमवार को अपने उच्चाधिकारियों से मंत्रणा करने के बाद कई बड़े फैसले लिए हैं। इसी कड़ी में प्रदेशभर के अध्यापकों के कोविड टेस्ट मेंडेटरी करने पर भी विचार किया जा रहा है। उपायुक्तों को इस ओर विशेष ध्यान देने को कहा है। स्कूल खुलने पर ही यह व्यवस्था अनिवार्य की जाएगी। सरकार ने संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए लोगों की पहचान पर फिर जोर देने का फैसला लिया है। पहले की तरह दोबारा कांटेक्ट ट्रेसिंग के उपायुक्तों को निर्देश दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने विवाह व अन्य सामाजिक आयोजनों के दौरान लोगों की अधिकतम संख्या 100 निर्धारित की है। उन्होंने कहा कि सरकार ने यह भी निर्णय लिया है कि विवाह और अन्य सामाजिक कार्यक्रमों में कार्यरत कैटरिंग स्टाफ के लिए कोविड परीक्षण अनिवार्य होगा। उन्होंने कहा कि यह सब कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के उद्देश्य से किया गया है।

23 नवंबर को होगी मंत्रिमंडल की बैठक

हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल की अगली बैठक 23 नवंबर को होगी। इसमें राज्य के स्कूलों को खोलने या बंद रखने पर बड़ा फैसला संभव है। स्कूलों में फिलहाल 25 नवंबर तक विशेष छुट्टियां घोषित की गई हैं। इस कारण अगली रणनीति तय करने के लिए कैबिनेट की बैठक का आयोजन होगा।

Next Story