Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल में कोविड-19 प्रमाण पत्र के बगेर घुसा चाइनीज टूरिस्ट, 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा

हिमाचल प्रदेश के देहरा में गत 8 जुलाई को अवैध तरीके से हिमाचल पहुंचे चाइनीज़ टूरिस्ट लियू सियोडेन को वीजा नियमों के उल्लंघन करने के मामले में देहरा कोर्ट में पेश किया गया।

हिमाचल में कोविड-19 प्रमाण पत्र के बगेर घुसा चाइनीज टूरिस्ट, 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा
X
फाइल फोटो

हिमाचल प्रदेश के देहरा में गत 8 जुलाई को अवैध तरीके से हिमाचल पहुंचे चाइनीज़ टूरिस्ट लियू सियोडेन को वीजा नियमों के उल्लंघन करने के मामले में देहरा कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया । इससे पहले चाइनीज़ टूरिस्ट से तीन दिन की रिमांड पर लेकर पुलिस ने पूछताछ की.पकड़े जाने के बाद सियोडेन को कोविड-19 जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने तक ज्वालामुखी की धर्मशाला में इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन किया गया था। अब न्यायिक हिरासत में उसे धर्मशाला भेज दिया गया है।

डीएसपी ज्वालामुखी तिलक राज ने बताया कि चाइनीज़ टूरिस्ट को वीजा नियमों के उल्लंघन मामले में गिरफ्तार कर देहरा कोर्ट में पेश किया गया। जहां से पहले उसे तीन दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया। फिर शनिवार को कोर्ट ने पेशी के बाद उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। जानकारी के मुताबिक चाइनीज़ टूरिस्ट बीते बुधवार 8 जुलाई को दिल्ली से कांगड़ा पहुंचा था। हिमाचल में अभी भी बाहरी राज्यों से पब्लिक ट्रांसपोर्ट के आने पर रोक है। ऐसे में किसी विदेशी पर्यटक के हिमाचल के किसी भी कोने में पहुंचने का सवाल नहीं उठता। फिर भी इस चीनी पर्यटक ने कांगड़ा में प्रवेश कर लिया, ये सबसे बड़ा सवाल है।

बताया जा रहा है कि ये शख़्स पहले ट्रेन से चंडीगढ़ पहुंचा, फिर वहां से किसी तरह ऊना और फिर ऊना से पब्लिक ट्रांसपोर्ट से कांगड़ा के देहरा में कलोहा तक पहुंच गया। जहां पुलिस ने दस्तावेजों की जांच पड़ताल में पाया कि पर्यटक के पास अन्य सभी दस्तावेज तो पुख़्ता हैं, मगर उसके पास कोविड सर्टिफिकेट नहीं था। कोविड-19 टेस्ट का नेगेटिव प्रमाण पत्र ना होने के बाद पुलिस ने चाइनीज़ टूरिस्ट को ज्वालामुखी स्थित अग्रवाल ट्रस्ट धर्मशाला में इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन कर दिया।

Next Story