Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल प्रदेश में नई पंचायतों के गठन को हरी झंडी, नई पंचायत बनाने के लिए कम से कम 600 की आबादी होना जरूरी

हिमाचल में नई पंचायतों के गठन को आखिरकार हरी झंडी मिल गई है। 11 अगस्त को हुई कैबिनेट बैठक में सीएम जयराम ठाकुर को नई पंचायतों के गठन को मापदंड अनुमोदित करने के लिए अधिकृत किया था।

हिमाचल में नई पंचायतों के गठन को हरी झंडी, नई पंचायत बनाने के लिए कम से कम 600 की आबादी होना जरूरी
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल में नई पंचायतों के गठन को आखिरकार हरी झंडी मिल गई है। 11 अगस्त को हुई कैबिनेट बैठक में सीएम जयराम ठाकुर को नई पंचायतों के गठन को मापदंड अनुमोदित करने के लिए अधिकृत किया था। नई पंचायत बनाने के लिए कम से कम 600 की आबादी होना जरूरी है।सीएम ने मंगलवार को नए मापदंडों को अनुमोदित कर दिया है।

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने इसकी पुष्टि की है। प्रदेश सरकार के पास नई पंचायतों के गठन के 470 प्रस्ताव आए हैं। पंचायती राज विभाग प्रदेश में 228 के करीब नई पंचायतों के गठन के मूड़ में हैं, जिसमें 220 गैर जनजातीय क्षेत्र में जबकि 8 पंचायतें जनजातीय क्षेत्र में नए मापदंड के अनुसार बन सकती हैं। प्रदेश में इस वक्त 3226 पंचायतें हैं।

गैर-जनजातीय क्षेत्रों के लिए अनुमोदित मापदण्डों के अनुसार, उन ग्राम पंचायतों से नई पंचायतों का गठन किया जाएगा, जिनकी 2011 की जनगणना के अनुसार जनसंख्या 2000 तथा उससे अधिक है तथा परिवारों की संख्या 500 या उससे अधिक, ग्राम पंचायत के वर्तमान मुख्यालय से सबसे दूर वाले गांव की दूरी 5 किमी या उससे अधिक, गांव की संख्या 5 तथा उससे अधिक है। इसके साथ यह शर्त भी है कि वर्तमान पंचायत और नव प्रस्तावित ग्राम पंचायत की जनसंख्या विभाजन के पश्चात न्यूनतम 600 होनी चाहिए। यह मापदण्ड पिछड़े क्षेत्रों के लिए भी लागू होगा।

जनजातीय क्षेत्रों की उन ग्राम पंचायतों में से नई पंचायतें बनाई जाएंगी, जिनकी जनसंख्या 750 या उससे अधिक है। इसके साथ यह शर्त भी है कि वर्तमान पंचायत तथा नव प्रस्तावित ग्राम पंचायत की जनसंख्या विभाजन के पश्चात न्यूनतम 300 होनी चाहिए।


Next Story