Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Himachal Budget: 42 हजार युवाओं को रोजगार देगी हिमाचल सरकार, बजट में लिया ये फैसला

Himachal Budget: जयराम सरकार ने आज अपना चौथा बजट पेश किया। बजट में सीएम ने 42 हजार युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य रखा है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बजट में घोषणा करते हुए कहा कि प्रदेश में खिलौना निर्माण क्लस्टर का बनाया जाएगा।

Himachal Budget: 42 हजार युवाओं को रोजगार देगी हिमाचल सरकार, बजट में लिया ये फैसला
X

हिमाचल सरकार का बजट

Himachal Budget: जयराम सरकार ने आज अपना चौथा बजट पेश किया। बजट में सीएम ने 42 हजार युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य रखा है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बजट में घोषणा करते हुए कहा कि प्रदेश में खिलौना निर्माण क्लस्टर का बनाया जाएगा। ऊना में प्रस्तावित एक हजार करोड़ रुपए के बल्क ड्रग पार्क में 4000 लोगों को रोजगार मिलेगा। इन्वेस्टर मीट में एमओयू के तहत 10 हजार करोड़ के निवेश की ग्राउंड ब्रेकिंग भी जल्द होगी।

बजट 2021-22 में हिमाचल प्रदेश में स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 3016 करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान किया गया है। इसमें बीते वर्ष के मुकाबले 314 करोड़ रुपए की बढ़ोतरी की गई है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बजट में प्रदेश सरकार के राजस्व विभाग में कार्यरत अंशकालीन कर्मियों और नंबरदारों का मानदेय 300-300 रुपए बढ़ाने की घोषणा की। जल गार्ड, पैरा फिटर और पंप आपरेटर का मानदेय 300 रुपए बढ़ाने की घोषणा। एसएमसी शिक्षकों के प्रति माहमानदेय को 500 रुपए बढ़ाने की घोषणा। आउटसोर्स आईटी शिक्षकों का प्रति माह मानदेय भी 500 रुपए बढ़ाने की घोषणा। मिड-डे मील कर्मियों और वाटर कैरियर का प्रति माह मानदेय 300 बढ़ाने की घोषणा।

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि कोरोना संकट में आशा वर्करों ने बेहतरीन काम किया है, इसलिए आशा वर्करों का वेतन 750 रुपए बढ़ाया जाएगा। शिक्षा क्षेत्र के लिए 2021-22 में 8024 करोड़ रुपए का प्रावधान। तीसरी, पांचवीं, आठवीं कक्षाओं के लिए परीक्षा अनिवार्य की जाएगी। स्पोकन इंग्लिश कोर्स शुरू किए जाएंगे। शतरंज के खेल को बच्चों में प्रोत्साहित किया जाएगा। खेलों में भाग लेने वाले खिलाडिय़ों की डायट मनी दोगुनी करने की घोषणा। पंचायत चौकीदारों का मानदेय 300 रुपये बढ़ाने की घोषणा। सिलाई अध्यापिकाओं का मानदेय भी 300 रुपए बढ़ाने की घोषणा की। 102 पंचायतें निर्विरोध चुनी गईं। इन्हें 10-10 लाख दिए जाएंगे। 412 नई ग्राम पंचायतें बनाईं। अब कुल 3615 पंचायतें हो गई हैं।

सभी नवगठित पंचायतों में पंचायत घर बनेंगे। यह चरणबद्ध तरीके से बनाए जाएंगे। पंचायतों में 2982 कॉमन सर्विस सेंटर बनेंगे। बागवानों के लिए पांच लाख पौधों का आयात किया जाएगा। बागबानों को उपदान देने के लिए नई स्वर्ण जयंती समृद्ध बागवान योजना शुरू की जाएगी। हेलनेट के लिए बागवानों को उपदान दिया जाएगा। इसके लिए 60 करोड़ रुपए व्यय किए जाएंगे। राज्य मधुमक्खी बोर्ड के गठन की घोषणा।

20121-22 में फूलों की खेती के लिए 11 करोड़ रुपए का प्रावधान किया जाएगा। बागबानों के लिए 543 करोड़ का प्रावधान किया जाएगा। दूध खरीद मूल्य दो रुपए बढ़ाने की घोषणा। 20121-22 में मिल्कफेड को 28 करोड़ अनुदान दिया जाएगा। विधायक प्राथमिकता राशि को 120 करोड़ से 135 करोड़ किया। जायका परिजयोना को प्रदेश के सभी जिलों में चलाया जाएगा। प्राकृतिक कृषि से 50 हजार नए किसान जोड़े जाएंगे।

नाबार्ड के तहत विधायक प्राथमिकता राशि को 120 करोड़ से 135 करोड़ किया जाएगा। प्रदेश के दो विवि के लिए पांच करोड़ का अनुसंधान कोष स्थापित किया जाएगा। सिंचाई के तहत 4000 हेक्टेयर क्षेत्र लाया जाएगा। विधायक महिला मंडलों, युवक मंडलों और स्वयं सहायता समूहों को विधायक निधि से 50 हजार रुपए की अनुशंसा कर सकेंगे। हिमाचल में विधायकों को पहली अप्रैल, 2021 से पूरा वेतन मिलेगा।

पहले कोरोना के चलते 30 प्रतिशत की कटौती की जा रही थी। डिस्क्रिशनरी ग्रांट को भी 1.75 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 1.80 करोड़ रुपए किया। आईटीआई संस्थानों में वाडियो कॉन्फ्रेंसिंग की सुविधा शुरू की जाएगी। बजट पेश करने के दौरान सीएम ने कहा कि विश्वव्यापी कोरोना महामारी की वजह से चुनौतियां अभूतपूर्व थीं। जिन हेल्थ केयर वर्कर और अन्य लोगों ने लोगों की सेवा की, उनका वह आभार व्यक्त करते हैं। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि योजना विभाग का नाम बदलकर नीति विभाग किया जाएगा। हिमाचल प्रदेश में साल 2021-22 के लिए सभी क्लास-वन कर्मचारियों को अपनी संपत्ति और आय का ब्यौरा सरकार को देना होगा।

Next Story