Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Himachal Pradesh Assembly: कांग्रेस के पांच विधायकों के सस्पेंशन रद्द, राज्यपाल के साथ बदसलूकी पर की थी कार्रवाई

हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर (Cm Jairam Thakur) ने आज विधानसभा (Himachal Pradesh Assembly) के बजट सत्र में भाग लिया। यहां उन्होंने सदन को संबोधित करते हुए प्रदेशहित से जुड़े विभिन्न विषयों एवं विकास की दृष्टि से हमारी सरकार (Himachal Government) द्वारा उठाए जा रहे कदमों से सदन को अवगत करवाया।

Himachal Pradesh Assembly: कांग्रेस के पांच विधायकों के सस्पेंशन रद्द, राज्यपाल के साथ बदसलूकी पर की थी कार्रवाई
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर (Cm Jairam Thakur) ने आज विधानसभा (Himachal Pradesh Assembly) के बजट सत्र में भाग लिया। यहां उन्होंने सदन को संबोधित करते हुए प्रदेशहित से जुड़े विभिन्न विषयों एवं विकास की दृष्टि से हमारी सरकार (Himachal Government) द्वारा उठाए जा रहे कदमों से सदन को अवगत करवाया। वहीं आज बजट सत्र के छटे दिन सरकार और कांग्रेस विधायकों (Congress MLA) के बीच जारी गतिरोध भी समाप्त हो गया। जयराम सरकार ने आज कांग्रेस के पांच विधायकों के सस्पेंशन रद्द (Suspension canceled) करने का फैसला किया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस के विधायकों के साथ सीएम समेत कैबिनेट के साथियों की बैठक में यह फैसला हुआ है और अब विधानसभा में यह प्रस्ताव पास हो गया है। संसदीय मंत्री सुरेश भारद्वाज ने विधानसभा में यह प्रस्ताव रखा और सीएम समेत अन्य सदस्यों ने इसका समर्थन किया। बाद में स्पीकर विपिन परमार ने प्रस्ताव पारित और कांग्रेस विधायक मुकेश अग्निहोत्री, सतपाल रायजादा, सुंदर सिंह ठाकुर, विनय कुमार और हर्षवर्धन चौहान का निलंबन रद्द करने की घोषणा की।

आपको बता दें कि गतिरोध तोड़ने के लिए सरकार ने पहल की है। विधासभा स्पीकर विपिन परमार ने कांग्रेस (Congress) विधायकों को बैठक के लिए बुलाया था। कांग्रेस विधायक दल ने पांच विधायकों को बातचीत के लिए अधिकृत किया गया है और इनमें आशा कुमारी, रामलाल ठाकुर, धनीराम शांडिल, सुखविंद्र सिंह सुक्खू और जगत सिंह नेगी ने स्पीकर, सीएम जयराम ठाकुर, संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज और महेंद्र सिंह ठाकुर के साथ बैठक की। हिमाचल विधानसभी में शनिवार को बजट पेश किया जाएगा।

हिमाचल प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के छठे दिन शुक्रवार को भी विधानसभा के बाहर कांग्रेस विधायकों ने प्रदर्शन किया। कांग्रेस का कोई भी विधायक सदन में नहीं गया और 11 बजे शुरू हुई सदन की कार्यवाही में विपक्षी दल कांग्रेस के बगैर ही प्रश्नकाल चलता रहा। भाजपा, निर्दलीय और माकपा के विधायक ही मंत्रियों से सवाल पूछते रहे तो वहीं, दूसरी ओर, कांग्रेस विधायकों ने विधानसभा परिसर के बाहर पहुंचते ही नारेबाजी की। वहीं, कांग्रेस विधायक दल की आपात बैठक भी आज शिमला में हुई है।

Next Story